after Shivkumar CM Kumaraswamy also accepted about tension : Outlook Hindi
Home » राजनीति » राष्ट्रीय दल » शिवकुमार के बाद सीएम कुमारस्वामी ने भी स्वीकारी तनाव की बात

शिवकुमार के बाद सीएम कुमारस्वामी ने भी स्वीकारी तनाव की बात

JUN 08 , 2018

कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी की सरकार में शामिल कांग्रेस कोटे के मंत्री विभागों के बंटवारे से नाराज चल रहे हैं। कई विधायक भी मंत्री नहीं बनाए जाने से नाखुश हैं। इस नाराजगी को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी और कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने भी स्वीकार किया है।

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने भी गुरुवार को स्वीकार किया कि मंत्रिमंडल में विभागों को बंटवारे को लेकर कुछ तनाव है। कांग्रेस के मंत्री अपने विभागों को लेकर खुश नहीं है। उन्होंने विश्वास जताया कि कांग्रेस नेता इस बारे में सही फैसला लेंगे।


इससे पहले राज्य में भाजपा के बीएस येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री बनने के बाद कांग्रेस के लिए लिए संकटमोचक बन कर उभरे डीके शिवकुमार ने कहा है कि यह साफ है कि राज्य के वरिष्ठ नेताओं को पीड़ा हुई है। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मंत्रिमंडल में खाली बचे स्थानों के लिए सभी विकल्प खुले रखे हैं और शीघ्र ही इस पर फैसला हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि पार्टी हाईकमान पर उन्हें पूरा विश्वास है। शिवकुमार ने कहा कि हमें हमें पार्टी कार्यकर्ताओं के के अंदर आत्मविश्वास बनाए रखना है। उन्होंने इस बात से इनकार किया कि पार्टी के अंदर किसी तरह का असंतोष है। शिवकुमार को छह जून को हुए मंत्रिमंडल विस्तार में मंत्री बनाया गया है।


गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक रोशन बेग के समर्थकों ने गुरुवार को कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया था। समर्थकों की मांग थी कि रोशन बेग को मंत्री पद दिया जाना चाहिए। वहीं विधायक रामलिंगा रेड्डी के समर्थकों ने भी उन्‍हें मंत्री पद दिए जाने की मांग की है।

गठबंधन में हुए समझौते के तहत कांग्रेस के 22 और जेडीएस के 12 मंत्री बनने हैं। बुधवार के कैबिनेट विस्तार के बाद से कुमारस्वामी मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों की संख्या बढ़कर 27 हो गई है। इसका अर्थ है कि अभी भी इसमें सात और मंत्रियों को शामिल किया जाना है। 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.