Home » राजनीति » जनादेश » पिछले चुनाव के मुकाबले कर्नाटक में कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा लेकिन सीटें हुईं कम

पिछले चुनाव के मुकाबले कर्नाटक में कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा लेकिन सीटें हुईं कम

MAY 16 , 2018

हाल ही में संपन्न हुए कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस के खाते में 78 सीटें आईं जबकि बीजेपी के खाते में 104 सीटें आयीं। कर्नाटक में कांग्रेस की सीटों की संख्या देखकर लगता है कि राज्य में सिद्धारमैया सरकार के खिलाफ लोगों ने वोट किया। सिद्दारमैया को एक सीट गंवानी पड़ी वहीं दूसरी सीट बमुश्किल से बचा सके। कांग्रेस की सीट 122 से 78 पर सिमट गई। लेकिन कांग्रेस के खाते में आया वोट प्रतिशत कुछ और ही कहता हृं। कांग्रेस को इस चुनाव में 38 फीसदी वोट मिले जबकि जो भाजपा से ज्यादा है। कांग्रस का वोट प्रतिशत पिछले चुनाव से बढ़ा है लेकिन सीटें कम हो गईं।

बीजेपी के मुकाबले 26 सीटें कम जीतने वाली कांग्रेस का वोट शेयर लगभग दो फीसदी अधिक रहा। भाजपा का वोट प्रतिशत 36.2 फीसदी रहा। वहीं जेडीएस का वोट प्रतिशत 18.3 फीसदी रहा। ग्रामीण इलाकों में कांग्रेस ने बीजेपी को पछाड़ा लेकिन शहरी इलाकों में कांग्रेस बीजेपी से पीछे रह गई। 

लिंगायत बाहुल्य सीटों पर बीजेपी ज्यादा प्रभावी जबकि आरक्षित सीटों पर भी काफी बदलाव देखने को मिला। 120 लिंगायत बाहुल सीटों पर कांग्रेस का वोट शेयर बढ़ा और 35.9 फीसदी से 38.1 फीसदी पहुंचा। वहीं इन सीटों पर कांग्रेस के मुकाबले बीजेपी का वोट शेयर 40.6 फीसदी रहा और ये कांग्रेस के वोट शेयर से अधिक प्रभावी साबित हुआ।

2013 विधानसभा चुनाव में वोट प्रतिशत

2013 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव की बात करें तो कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा है। पिछली बार कांग्रेस का जो वोट प्रतिशत था, उससे थोड़ा ही कम वोट प्रतिशत इस बार भाजपा का रहा।

कांग्रेस ने 2013 में 122 सीटें जीती थीं और उसका वोट प्रतिशत 36.76 फीसदी था। भाजपा को 40 सीटें मिली थीं और उसका वोट प्रतिशत 20.07 फीसदी था। इस बार कांग्रेस का वोट प्रतिशत करीब दो फीसदी बढ़ा वहीं, भाजपा का वोट प्रतिशत करीब 16 फीसदी बढ़ा।

जेडीएस का वोट प्रतिशत पिछली बार के मुकाबले कम हुआ है। 2013 में जेडीएस को 40 सीटें मिली थीं और उसका वोट प्रतिशत 20.45 फीसदी था।

2014 के लोकसभा चुनाव का वोट प्रतिशत

2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा का वोट प्रतिशत पूरे राज्य में 43.37 फीसदी था। पार्टी ने लोकसभा में यहां से 17 सीटें जीती थीं।

कांग्रेस का वोट प्रतिशत 41.15 फीसदी था। उसने कर्नाटक में 9 सीटें जीती थीं। जेडीएस का वोट प्रतिशत 11.07 फीसदी था। उसे दो सीटें मिली थीं। लोकसभा चुनाव से तुलना करें तो कांग्रेस और भाजपा दोनों का वोट प्रतिशत गिरा है, वहीं जेडीएस के वोट प्रतिशत में बढ़ोत्तरी हुई है।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.