Home » राजनीति » जनादेश » डीयू चुनाव: एबीवीपी को बड़ा झटका, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद पर एनएसयूआई की जीत

डीयू चुनाव: एबीवीपी को बड़ा झटका, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद पर एनएसयूआई की जीत

SEP 13 , 2017

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) छात्र संघ चुनाव के नतीजे आ गए हैं। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर एनएसयूआई ने जीत हासिल की है। जबकि सचिव और संयुक्त सचिव पद पर आरएसएस के छात्र संगठन एबीवीपीने जीत दर्ज की है। एनएसयूआई तीन सीटों पर जीती या दो सीटों पर इसे लेकर आखिर तक असमंजस की स्थिति बनी रही। जिसके चलते चुनाव परिणाम की आधिकारिक घोषणा में विलंब हुआ। 

एनएसआईयू के रॉकी तूसीद दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (डूसू) के अध्यक्ष चुने गए हैं। उन्होंने एबीवीपी के रजत चौधरी को 1590 वोटों के बड़े अंतर से हराया। उपाध्यक्ष बने एनएसयूआई के कुणाल सेहरावत 175 वोटों से जीते हैं। एबीवीपी की महामेधा नागर ने एनएसयूआई की मीनाक्षी मीणा को 2624 वोटों से हराकर महासचिव पद पर जीत हासिल की जबकि संयुक्त पद पर एबीवीपी के उमा शंकर ने एनएसयूआई के अविनाश यादव को 342 वोटों से हराया। उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद पर आखिर तक कांटे का मुकाबला रहा। एक समय एनएसयूआई चार में से तीन सीटों पर आगे चल रही थी।

मंगलवार को हुए डूसू चुनाव के लिए कुल 43 फीसदी छात्रों ने मतदान किया था। चार साल बाद डूसू चुनाव में कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई को कामयाबी मिली है। 2013 के बाद से ही डूसू अध्यक्ष पद पर एबीवीपी का कब्जा था। पिछले कई वर्षों से डीयू में दबदबा रखने वाली एबीवीपी के लिए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर हार बड़ा झटका है। इससे पहले जेएनयू में भी एबीवीपी सेंट्रल पैनल की चारों सीटों पर दूसरे स्थान पर रही थी। पिछले साल डूसू की तीन सीटों पर एबीवीपी का कब्जा था और एनएसयूआई सिर्फ संयुक्त सचिव पद पर जीत सकी थी। 

Advertisement

मतों की गिनती को लेकर विवाद 

डूसू चुनावों में मतों की गिनती को लेकर विवाद के चलते परिणाम जारी करने में विलंब होने की खबर है। एनएसयूआई ने आरोप लगाया है कि एचआरडी मिनिस्ट्री और आरएसएस डीयू प्रशासन पर दोबारा वोटों की गिनती का दबाव बना रहे हैं। 


कांग्रेसी नेताओं में खुशी की लहर

हालांकि, यह छात्रसंघ चुनाव था लेकिन कांग्रेस के बड़े-बड़े नेताओं ने अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर एनएसयूआई की जीत पर खुशी जाहिर की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने भाजपा पर निशाना साधत हुए ट्वीट किया, ”बोल कि लब आज़ाद हैं तेरे! एनएसयूआई की शानदार जीत, बीजेपी और एबीवीपी को बड़ा झटका.” उन्होंने आगे लिखा कि राष्ट्रवाद के नाम पर गुंडागर्दी को खारिज किया गया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला और सोनिया गांधी के राजनैतिक सचिव अहमद पटेल,  समेत कई नेताओं ने एनएसयूआई के छात्रों को डीयू की जीत की बधाई दी है। सुरेजवाल ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि पीएम मोदी के अच्छे दिनों के झूठे वादे को युवाओं ने नकार दिया है। डीयू एनएसयूआई की जीत इसी का सबूत है। 

 जीत के बाद एनएसयूआई ने कहा कि छात्रों ने नफरत का जहर फैलाने वाली विचारधारा को नकार दिया है। 



कौन-कौन जीते 

अध्यक्ष – रॉकी तूसीद- एनएसयूआई 

उपाध्यक्ष- कुणाल सेहरावत- एनएसयूआई 

सचिव- महामेधा नागर- एबीवीपी 

संयुक्त सचिव- उमा शंकर- एबीवीपी


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.