Home राजनीति सामान्य शरद पवार और सोनिया गांधी की बैठक टली, लेकिन एनसीपी ने कोर कमेटी में चर्चा की

शरद पवार और सोनिया गांधी की बैठक टली, लेकिन एनसीपी ने कोर कमेटी में चर्चा की

आउटलुक टीम - NOV 17 , 2019
शरद पवार और सोनिया गांधी की बैठक टली, लेकिन एनसीपी ने कोर कमेटी में चर्चा की
शरद पवार और सोनिया गांधी की बैठक टली, अब सोमवार को होगी मुलाकात
File Photo
आउटलुक टीम

महाराष्ट्र में सरकार के गठन के प्रयासों के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार के पुणे स्थित निवास पर पार्टी की कोर कमेटी की बैठक हुई। 

इस बैठक से पहले एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा कि कोर कमेटी कांग्रेस और शिव सेना के साथ संयुक्त सरकार बनाने पर विचार कर सकती है। हालांकि एनसीपी प्रमुख शरद पवार की रविवार को दिल्ली में कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ होने वाली बैठक टल गई है। बताया जा रहा है कि यह बैठक सोमवार को होगी। 

एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि रविवार को पवार पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि हम सही दिशा में हैं। हमें लगता है कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की सरकार जल्द ही बन जाएगी।

सरकार गठन का सारा दारोमदार अब सोनिया पर

महाराष्ट्र में सरकार बनाने का पूरा दारोमदार अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर है। बताया जा रहा है कि शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए सोनिया गांधी अभी भी तैयार नहीं है। शरद पवार उन्हें मनाने के लिए दिल्ली में सोमवार को मिलेंगे। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पार्टी हाई कमान महाराष्ट्र के अपने नेताओं को न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा के लिए शिवसेना के नेताओं के साथ बैठक करते देखने से खुश नहीं है।

लगा है राष्ट्रपति शासन

महाराष्ट्र में 12 नवंबर को सरकार नहीं बनने के बाद राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था। विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद मुख्यमंत्री पद के मुद्दे को लेकर भाजपा और शिवसेना का गठबंधन टूट गया था। इसके बाद नए सियासी समीकरण बने हैं। इसमें शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के साथ आने की चर्चाएं हैं। राज्य में सरकार बनाने की उठापटक के बीच शनिवार को मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने शरद पवार से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच हुई बातचीत का खुलासा नहीं हुआ।

कांग्रेस के कारण गवर्नर से मिलने का प्रोगाम रद्द

शिवेसना-एनसीपी-कांग्रेस के नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने के लिए शनिवार की शाम का वक्त लिया था, लेकिन मुंबई में कांग्रेस का कोई नेता ही नहीं था, जिससे राज्यपाल से मिलने का कार्यक्रम शिवसेना व एनसीपी को रद्द करना पड़ा। कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने माना कि कांग्रेस का कोई नेता मुंबई में नहीं था, इसलिए राज्यपाल से कैसे मिलते।

हम ही बनाएंगे सरकार: बीजेपी

दादर स्थित मुंबई बीजेपी प्रदेश कार्यालय में तीन दिन चली माथापच्ची के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार तो बीजेपी ही बनाएगी, मगर कैसे बनेगी इस पर उन्होंने कुछ नहीं कहा। इससे पहले प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने भी यही दावा किया था।

राज्यपाल ने किसानों को दी मदद

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी किसानों की मदद के लिए 8,000 रुपये प्रति हेक्टेयर देने की घोषणा की है। इस मदद को कांग्रेस ने नाकाफी करार दिया है। पहले सूखे और फिर बेमौसम बारिश के कारण राज्य के किसानों का बुरा हाल है। किसानों को मदद देने के लिए शरद पवार और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे पहले से ही राज्य में दौरे कर रहे हैं। किसानों को मदद देने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी राज्यपाल से मिले थे। शनिवार को राज्यपाल कोश्यारी ने खरीफ फसल के 8,000 रुपये प्रति हेक्टेयर और बारहमासी फसल व फल बगीचों के लिए 18,000 रुपये प्रति हेक्टेयर देने की घोषणा की है। यह मदद दो हेक्टेयर तक जमीन वाले किसानों को दी जाएगी। बारि‌श से प्रभावित इलाकों में किसानों के बच्चों का परीक्षा शुल्क माफ किया जाएगा। शासन की ओर से घो‌षित मदद को तत्काल किसानों तक पहुंचाने का आदेश दिया गया है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से