Home राजनीति सामान्य रेप के आरोपी भाजपा नेता चिन्मयानंद का वीडियो लीक, बढ़ीं मुश्किलें

रेप के आरोपी भाजपा नेता चिन्मयानंद का वीडियो लीक, बढ़ीं मुश्किलें

आउटलुक टीम - SEP 11 , 2019
रेप के आरोपी भाजपा नेता चिन्मयानंद का वीडियो लीक, बढ़ीं मुश्किलें
रेप के आरोपी भाजपा नेता चिन्मयानंद का वीडियो लीक, बढ़ी मुश्किलें
File Photo
आउटलुक टीम

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता और पूर्व गृह राज्‍य मंत्री स्‍वामी चिन्‍मयानंद की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। यूपी के शाहजहांपुर के एक लॉ कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा ने आरोप लगाया कि स्वामी चिन्मयानंद ने उसका रेप किया और एक साल तक शारीरिक शोषण किया। मंगलवार को इस केस में एक वीडियो सामने आया। सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में एक अधेड़ उम्र का शख्स लड़की से मसाज करवा रहा है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहे व्‍यक्ति स्‍वामी चिन्‍मयानंद ही हैं। हालांकि हम इस वायरल वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करते हैं।

31 जनवरी 2014 को रिकॉर्ड किए गए इस वीडियो की शुरुआत में एक लड़की एक अधेड़ व्‍यक्ति के पैरों में मसाज कर रही है। विडियो में अधेड़ व्‍यक्ति युवती के परिवार के बारे में भी बातें करता दिख रहा है। पुलिस इस वीडियो की जांच कर रही है।

छात्रा ने चिन्मयानंद पर लगाया रेप का आरोप

यूपी के शाहजहांपुर के एक लॉ कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा ने आरोप लगाया कि स्वामी चिन्मयानंद ने उसका रेप किया और एक साल तक शारीरिक शोषण किया। लड़की ने कहा कि शाहजहांपुर पुलिस चिन्मयानंद के खिलाफ रेप केस नहीं दर्ज कर रही है। छात्रा ने आरोप में कहा है, 'चिन्मयानंद ने मेरा रेप किया और उसके बाद एक साल तक शारीरिक शोषण किया। शाहजहांपुर पुलिस ने रेप केस नहीं दर्ज किया। मैं जब दिल्ली में थी तब दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर उसे शाहजहांपुर पुलिस को फॉरवर्ड किया था, मगर वह अब भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।'

पीड़िता ने आगे बताया, 'एसआईटी ने मुझसे करीब 11 घंटे पूछताछ की। मैंने उन्हें रेप के बारे में बताया। उन्हें बताने के बाद भी अब तक चिन्मयानंद को नहीं गिरफ्तार किया गया है।' उसने बताया कि इससे पहले जब उसके पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ शारीरिक शोषण के आरोप में मुकदमे की तहरीर दी थी तब मुकदमा दर्ज करना तो दूर, जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने उसके पिता को धमकी देते हुए चिन्मयानंद के रसूख का हवाला दिया और बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने को कहा।

'समय आने पर साक्ष्य पेश करेंगे'

लड़की ने कहा कि उसके पास सारे साक्ष्य मौजूद हैं। वह कॉलेज हॉस्टल के जिस कमरे में रहती थी उसे सील कर दिया गया है। उसे मीडिया के सामने खोला जाए। सही समय आने पर साक्ष्य (वीडियो क्लिप) भी पेश किया जाएगा। लड़की ने कहा कि उसने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए ही अपना वह विडियो वायरल किया था, जिसमें उसने चिन्मयानंद से जान का खतरा बताया था। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय के आदेश पर राज्य सरकार ने मामले की पड़ताल के लिए विशेष जांच दल गठित किया है, जो मामले की तफ्तीश कर रहा है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से