Home राजनीति सामान्य जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा- पुलिसवालों की जगह भ्रष्ट नेताओं को मारें आतंकी

जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा- पुलिसवालों की जगह भ्रष्ट नेताओं को मारें आतंकी

आउटलुक टीम - JUL 21 , 2019
जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा- पुलिसवालों की जगह भ्रष्ट नेताओं को मारें आतंकी
जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा- पुलिसवालों की जगह भ्रष्ट नेताओं को मारें आतंकी
File Photo
आउटलुक टीम

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को कहा कि आतंकियों को पुलिसवालों की जगह भ्रष्ट राजनेताओं और नौकरशाहों की हत्या करनी चाहिए। सत्यपाल मलिक ने कहा कि यही लोग राज्य को लूट रहे हैं। यह बात उन्होंने करगिल में भाषण के दौरान कही।

सत्‍यपाल मलिक ने कहा, आतंकी आम नागरिकों को मारते हैं। पुलिस के जवानों को मारते हैं। एसपीओ को मारते हैं। अपने ही लोगों को क्‍यों मारते हो। उन्‍हें मारो, जिन्‍होंने तुम्‍हारे मुल्‍क को लूटा है। जिन्‍होंने कश्‍मीर की सारी दौलत लूटी है। आपने क्‍या इनमें से किसी को मारा है। ये फितूर में अपनी जान गंवा रहे हैं। इससे कुछ नहीं निकलना। बंदूक से कुछ नहीं निकलेगा। लिट्टे भी कुछ नहीं कर पाया बंदूक के दम पर।

भ्रष्टाचार पर बोले सत्यपाल मलिक

एक कार्यक्रम में सत्‍यपाल मलिक ने कहा, कश्‍मीर की सबसे बड़ी समस्‍या भ्रष्‍टाचार है। कश्‍मीर में जितना रुपया लगा है, अगर उतना रुपया विकास के काम में लग गया होता, तो कश्‍मीर सोने का होता। यहां नेताओं के पास इतना धन है, जिसकी कोई सीमा नहीं है। इनके बड़े बड़े मकान हैं। कई करोड़ के कालीन हैं लेकिन जो गरीब कश्‍मीरी है, जो अमरनाथ यात्रा में टट्टू लेकर जाता है उसके शरी पर स्‍वेटर भी नहीं है।

सत्यपाल मलिक के फैसले और बयान बने चर्चा का विषय

राज्यपाल सत्यपाल मलिक का नाता विवादित बयानों से रहा है। उनकी बातें कई बार सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर चुकी हैं। इस साल जनवरी में मलिक अचानक सुर्खियों में आ गए जब उन्होंने कहा कि कोई भी आतंकी मारा जाता है तो उन्हें दुख होता है, इससे सिर्फ पुलिस के हिसाब से उपलब्धि बढ़ी है। जम्मू-कश्मीर के गवर्नर ने कहा था, 'पुलिस अपना काम बहुत अच्छे से कर रही है लेकिन अगर एक भी जान जाती है, अगर वो आतंकी की भी क्यों न हो तो मुझे तकलीफ होती है। हम चाहते हैं कि हर कोई वापस आए.’ इससे पहले भी सत्यपाल मलिक के कई बयान और फैसले चर्चा का विषय बन चुके हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से