Home राजनीति सामान्य तिरुवनंतपुरम के मंदिर में घायल हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर, सिर पर लगे 6 टांके

तिरुवनंतपुरम के मंदिर में घायल हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर, सिर पर लगे 6 टांके

आउटलुक टीम - APR 15 , 2019
तिरुवनंतपुरम के मंदिर में घायल हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर, सिर पर लगे 6 टांके
तिरुवनंतपुरम के मंदिर में घायल हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर, सिर पर लगे 6 टांके
ANI
आउटलुक टीम

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस सांसद शशि थरूर सोमवार को एक मंदिर में दर्शन करने के दौरान घायल हो गए। थरूर तिरुवनंतपुरम के एक मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान वह फिसलकर गिर गए और उनके सिर पर चोट लग गई। एएनआई के मुताबिक, उन्हें 6 टांके लगे हैं। कांग्रेस ने थरूर को एक बार फिर तिरुवनंतपुरम सीट से लोकसभा चुनाव में उतारा है।

खतरे से बाहर

अपने प्रचार अभियान से पहले थरूर एक मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान अचानक वह गिर पड़े और उनको सिर में चोट लग गई। इस घटना के बाद मंदिर में अफरातफरी के हालात हो गए। थरूर को फौरन इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों का कहना है कि उनकी हालत खतरे से बाहर है।

चुनाव प्रचार को लेकर थरूर की हाईकमान से शिकायत

तिरुवनंतपुरम सीट से फिर लोकसभा चुनाव लड़ रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कुछ दिन पहले पार्टी हाईकमान को पत्र लिखकर शिकायत की थी कि स्थानीय पार्टी नेता उनके प्रचार अभियान में रुचि नहीं ले रहे हैं। यह सामने आया है कि शशि थरूर के चुनाव प्रचार में उनके निर्वाचन क्षेत्र की 23 मंडलम समितियां हिस्सा नहीं ले रही थीं। उन्होंने एक मंडलम कमिटी के अध्यक्ष का नाम भी बताया जिसने थरूर के 16 बार कॉल करने पर भी जवाब नहीं दिया।

इन लोगों से है थरूर का मुकाबला

थरूर इस बात से भी नाराज हैं कि एक विधायक और एक पूर्व विधायक जिन्हें प्रचार की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई थी, उन्होंने अचानक अपनी सक्रियता कम कर दी। कयास यह भी लगाए जा रहे हैं कि कुछ मंडलम कमिटी के अध्यक्ष बीजेपी के साथ हाथ मिला चुके हैं और इस वजह से कांग्रेस कैंप का बड़ी संख्या वोट कटने की संभावना है। इस सीट से दो बार कांग्रेस के सांसद चुने गए थरूर का मुकाबला बीजेपी नेता और मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कुम्मानेम राजशेखरन और सीपीआई विधायक सी दिवाकरन से है।

थरूर इस सीट से पहली बार 2009 में चुनाव लड़े थे। उस बार उन्हें एक लाख से तीन मत कम मिले थे, लेकिन 2014 में वह लगभग 15,000 मतों के अंतर से जीते।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से