Home राजनीति सामान्य आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाए जाने पर कपिल सिब्बल का तंज, कहा- पिंजरे का तोता फिर पिंजरे में

आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाए जाने पर कपिल सिब्बल का तंज, कहा- पिंजरे का तोता फिर पिंजरे में

आउटलुक टीम - JAN 11 , 2019
आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाए जाने पर कपिल सिब्बल का तंज, कहा- पिंजरे का तोता फिर पिंजरे में
आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाए जाने पर कपिल सिब्बल का तंज, कहा- पिंजरे का तोता फिर पिंजरे में
File Photo
आउटलुक टीम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले पैनल द्वारा सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को हटाए जाने के बाद से सरकार को लगातार विपक्ष की आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। आलोक वर्मा को निदेशक पद से हटाए जाने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने तंज कसा और सीबीआई को एक बार फिर से 'पिंजरे का तोता' करार दिया।

पिंजरे के तोते को फिर से पिंजड़े में भेजा गया

कपिल सिब्बल ने आलोक वर्मा के निदेशक पद से हटाने पर ट्वीट करते हुए लिखा, 'आलोक वर्मा को हटाकर कमेटी ने पक्का कर दिया है कि पिंजरे का तोता अपनी आवाज से सत्ता के गलियारों का सुर बिगाड़ सकता था। इसी वजह से पिंजरे के तोते को फिर से पिंजरे में भेजा गया।'

सीवीसी ने आलोक वर्मा को निदेशक पद से हटाया

गुरुवार को ही प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली कमेटी ने सीबीआई यानी केंद्रीय जांच ब्यूरो निदेशक पद से हटाए जाने के बाद आलोक वर्मा को अग्निशमन सेवा, नागरिक सुरक्षा और होम गार्ड का महानिदेशक बनाया गया है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार को सेलेक्शन कमेटी की बैठक में 2-1 से ये फैसला लिया गया कि आलोक वर्मा को सीबीआई चीफ के पद से हटाया जाए।

पैनल में मौजूद पीएम मोदी और चीफ जस्टिस के प्रतिनिधि के तौर पर मौजूद जस्टिस एके सीकरी वर्मा को हटाने के पक्ष में थे। वहीं, पैनल के तीसरे सदस्य के तौर पर मौजूद लोकसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे आलोक वर्मा को हटाने के विरोध में थे। उन्होंने समिति को विरोध की चिट्ठी भी सौंपी।

इस मामले पर आलोक वर्मा ने तोड़ी चुप्पी

इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए आलोक वर्मा ने गुरुवार देर रात न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को दिए एक बयान में कहा कि सीबीआई उच्च सार्वजनिक स्थानों में भ्रष्टाचार से निपटने वाली एक प्रमुख जांच एजेंसी है, यह एक ऐसी संस्था है जिसकी स्वतंत्रता को संरक्षित और सुरक्षित किया जाना चाहिए। आगे उन्होंने कहा कि इसे बिना किसी बाहरी प्रभावों यानी दखलअंदाजी के कार्य करना चाहिए। मैंने संस्था की साख बनाए रखने की कोशिश की है, जबकि इसे नष्ट करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

सरकार ने करीब दो महीने आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया था

इससे पहले मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद पर बहाल कर दिया था। आलोक वर्मा को सीवीसी की सिफारिश पर सरकार ने करीब दो महीने पहले जबरन छुट्टी पर भेज दिया था।

अब मिस्टर मोदी के दिमाग में डर बैठ गया है: राहुल गांधी

आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाए जाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया था। उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए लिखा, 'अब मिस्टर मोदी के दिमाग में डर बैठ गया है। वह नींद नहीं ले सकते हैं। उन्होंने वायुसेना के 30 हजार करोड़ रुपये चुराए और अनिल अंबानी को दे दिया। सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को दूसरी बार बर्खास्त करना यह साफ दिखाता है कि वो अब अपने ही झूठ के शिकार हो गए हैं।'

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से