Home राजनीति सामान्य थरूर के बयान के बाद कांग्रेस की नसीहत, 'भाजपा की नफरत' का जवाब देते समय सावधानी बरतें नेता

थरूर के बयान के बाद कांग्रेस की नसीहत, 'भाजपा की नफरत' का जवाब देते समय सावधानी बरतें नेता

आउटलुक टीम - JUL 12 , 2018
थरूर के बयान के बाद कांग्रेस की नसीहत, 'भाजपा की नफरत' का जवाब देते समय सावधानी बरतें नेता
थरूर के बयान के बाद कांग्रेस की नसीहत, 'भाजपा की नफरत' का जवाब देते समय सावधानी
file photo

कांग्रेस ने अपनी ही पार्टी के नेता शशि थरूर के 'हिंदू पाकिस्तान' वाले बयान को खारिज कर दिया है। ये भी कहा है कि भारत का लोकतंत्र और इसके मूल्य इतने मजबूत हैं कि 'भारत कभी पाकिस्तान' बनने की स्थिति में नहीं जा सकता। साथ ही, कांग्रेस ने पार्टी के नेताओं को यह नसीहत भी दी कि 'भाजपा की नफरत' का जवाब देते समय वे पूरी सावधानी बरतें।

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर लगाए ये आरोप

इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए दो ट्वीट किए हैं जिसमें उन्होंने कहा, 'मोदी सरकार ने पिछले चार वर्षों में विभाजन, कट्टरता, नफरत,असहिष्णुता और ध्रुवीकरण का माहौल पैदा किया है।'

सद्भाव के सभ्यतागत मूल्यों का प्रतिनिधित्व करती है कांग्रेस

उन्होंने कहा, 'दूसरी तरफ, कांग्रेस बहुलवाद, विविधता, विभिन्न धर्मो एवं समुदायों के बीच भाईचारा और सद्भाव के सभ्यतागत मूल्यों का प्रतिनिधित्व करती है।'

भाजपा की नफरत' का जवाब देते समय पूरी सावधानी बरतें पार्टी के नेता

अपने दूसरे ट्वीट में सुरजेवाला ने कहा, 'भारत के मूल्य और मूल सिद्धांत हमारी सभ्यतागत भूमिका की स्पष्ट गारंटी देते हैं। कांग्रेस के सभी नेताओं को भाजपा की नफरत को खरिज करने के लिए शब्द एवं वाक्य बोलते समय इस बात का एहसास होना चाहिए कि यह ऐतिहासिक जिम्मेदारी (मूल्यों कर रक्षा करने की) हमारे कंधों पर है।'

जानें पूरा मामला-

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने आज कहा, 'मैंने बुधवार को जो बयान दिया था मैं उस पर आज भी कायम हूं, हालांकि कुछ लोग मेरे बयान को गलत ढंग से पेश कर रहे हैं, इसलिए मैं एक स्पष्टीकरण देना चाहता हूं। पाकिस्तान का निर्माण धर्म के आधार पर हुआ था, जहां अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव किया जाता था और उन्हें समान अधिकार नहीं दिए जाते थे'।

उन्होंने कहा, भारत इस सोच का समर्थन नहीं करता है लेकिन भाजपा और संघ की हिंदू राष्ट्र की अवधारणा में पाकिस्तान की झलक देखने को मिलती है, जिसे ‘हिंदू पाकिस्तान’ की संज्ञा दी जा सकती है। लेकिन ऐसे देश के लिए हमारी आजादी की लड़ाई नहीं लड़ी गई थी और ना ही संविधान में ऐसे राष्ट्र की परिकल्पना की गई है।
 
शशि थरूर के बयान पर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और उनसे माफी मांगने को कहा है। आज सुब्रमण्यम स्वामी ने भी कहा कि यह उनके मानसिक दिवालियेपन का परिणाम है।

गौरतलब है कि बुधवार को शशि थरूर ने कहा था कि वर्ष 2019 के चुनाव में अगर भाजपा जीती तो भारत ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा। शशि थरूर के इस बयान पर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से