Advertisement
Home राजनीति सीएम केजरीवाल ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- कर्नाटक के स्कूलों से भगत सिंह का पाठ हटाना शहीदों का अपमान

सीएम केजरीवाल ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- कर्नाटक के स्कूलों से भगत सिंह का पाठ हटाना शहीदों का अपमान

आउटलुक टीम - MAY 17 , 2022
सीएम केजरीवाल ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- कर्नाटक के स्कूलों से भगत सिंह का पाठ हटाना शहीदों का अपमान
सीएम केजरीवाल ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- कर्नाटक के स्कूलों से भगत सिंह का पाठ हटाना शहीदों का अपमान
आउटलुक टीम

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्कूली पाठ्यपुस्तक से भगत सिंह पर एक पाठ हटाने की खबरों को लेकर कर्नाटक की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए मंगलवार को कहा कि यह शहीदों के बलिदान का अपमान है। उन्होंने सरकार से यह निर्णय वापस लेने की मांग की है।

आप के राष्ट्रीय संयोजक ने ट्विटर पर कहा कि देश अपने शहीदों के अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने भाजपा से पूछा कि "आपके लोग" भगत सिंह से इतनी नफरत क्यों करते हैं। केजरीवाल की प्रतिक्रिया ऑल-इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (AIDSO) और ऑल-इंडिया सेव एजुकेशन कमेटी (AISEC) सहित कुछ संगठनों द्वारा दावा किए जाने के बाद आया है।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "भाजपा के लोग अमर शहीद सरदार भगत सिंह जी से इतनी नफरत क्यों करते हैं? स्कूली किताबों से सरदार भगत सिंह जी का नाम हटाना अमर शहीद के बलिदान का अपमान है।" उन्होंने कहा, "देश अपने शहीदों का ऐसा अपमान कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। भाजपा सरकार को यह फैसला वापस लेना होगा।"

आम आदमी पार्टी (आप) ने कन्नड़ पाठ्यपुस्तक से भगत सिंह पर अध्याय को हटाने को "शर्मनाक" बताया और मांग की कि कर्नाटक सरकार स्कूल की पाठ्यपुस्तक में पाठ को बहाल करे।

वहीं, कर्नाटक के प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में आरएसएस के संस्थापक हेडगेवार के एक भाषण को शामिल करने पर भी विवाद बढ़ा है। हालांकि राज्य के शिक्षा मंत्री बी सी नागेश ने इसका बचाव किया है।

नागेश ने कहा है कि पाठ्यपुस्तक में हेडगेवार या आरएसएस के बारे में कुछ भी नहीं है, लेकिन लोगों, विशेष रूप से युवाओं के लिए क्या प्रेरणा होनी चाहिए, इस पर केवल उनका भाषण शामिल है। उन्होंने कहा कि आपत्ति करने वालों ने पाठ्यपुस्तक को नहीं पढ़ा है।  

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement