Home » बोलती तस्वीर » सामान्य » प्रगति मैदान में पुस्तकों का महाकुंभ आज से, जानिए क्या है इस बार खास

प्रगति मैदान में पुस्तकों का महाकुंभ आज से, जानिए क्या है इस बार खास

JAN 05 , 2018

राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान में हर साल आयोजित होने वाले विश्व पुस्तक मेले की शुरुआत आज यानी शनिवार से हो रही है। मेले का शुभारंभ केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर करेंगे। पर्यावरणविद सुनीता नारायण और यूरोपीय संघ के राजदूत टोमाश कोज्लोवस्की विशिष्ट अतिथि रहेंगे।

इस बार विश्व पुस्तक मेले की थीम ‘पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन’ पर आधारित होगी। यह मेला 14 जनवरी तक चलेगा। भारत ट्रेड प्रोमोशन ऑर्गेनाइजेशन (आईटीपीओ) और नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी) के सहयोग से आयोजित होने वाले विश्व पुस्तक मेले के थीम पैवेलियन में इस बार जलवायु परिवर्तन, ग्लोबल वार्मिग, जल प्रदूषण और अन्य संबद्ध मामले तथा पर्यावरण से जुड़े मुद्दों पर खास ध्यान दिया जाएगा।

गुरुवार को कांस्टीटयूशन क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा ने बताया कि प्रगति मैदान पुनर्विकास कार्य के चलते इस बार पुस्तक मेला का आकार भी 37 हजार वर्ग मीटर से घटकर 30 हजार वर्ग मीटर रह गया है। बावजूद इसके मेले की विशेषताओं में कोई कमी नहीं रहेगी। इस दौरान बलदेव भाई शर्मा के साथ न्यास की निदेशक डा. रीता चौधरी और भारतीय व्यापार संवर्धन परिषद (आइटीपीओ) के महाप्रबंधक जयंत दास भी मौजूद थे।

सांस्कृतिक एवं संगीतमय कार्यक्रम का आयोजन

उन्होंने बताया कि यूरोपीय संघ मंडप समृद्ध एवं गतिशील यूरोपीय संस्कृति व साहित्य को प्रदर्शित करेगा। यूरोपीय संघ के सदस्य देश अंग्रेजी तथा अन्य यूरोपीय भाषाओं में चुनिंदा पुस्तकें प्रदर्शित करेंगे। इसके अलावा थीम संबंधित पैनल चर्चाएं, कार्यशालाएं, बच्चों के कार्यक्रम, लघु फिल्मों की स्क्रीनिंग और विशेष चित्र प्रदर्शनी के साथ-साथ सांस्कृतिक एवं संगीतमय कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

40 देशों के प्रकाशक होंगे शामिल 

शर्मा के मुताबिक मेले के विदेशी मंडप में बेल्जियम, चीन, कनाडा, डेनमार्क, मिस्र, फ्रांस, जर्मनी, हंगरी, ईरान, इटली, मैक्सिको, नेपाल, पाकिस्तान, पोलैंड, स्लोवेनिया, स्पेन, श्रीलंका, स्वीडन, संयुक्त अरब अमीरात, यूनाइटेड किंगडम सहित 40 देशों के प्रकाशक अपनी पुस्तकों को प्रदर्शित करेंगे। इसके अलावा यूनेस्को आदि अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां भी शिरकत करेंगी। विदेशी प्रतिभागियों की प्रदर्शनी हॉल नं. 7 ए, बी और सी में लगेगी।

देशभर से लगभग 800 प्रकाशक लेंगे भाग

इस वर्ष मेले में देशभर से लगभग 800 प्रकाशक भाग लेंगे। 1500 से ज्यादा स्टालों पर विभिन्न भाषाओं असमिया, बांग्ला, अंग्रेजी, गुजराती, हिंदी, मैथिली, मलयालम, मराठी, पंजाबी, ओडिया, संस्कृत, सिंघी, तमिल, तेलुगु तथा उर्दू की पुस्तकें प्रदर्शित होंगी।

ये होगा मेले का समय और टिकट की सुविधा

मेले का समय प्रात: 11 से रात 8 बजे तक रहेगा। टिकट दर बच्चों के लिए 20 रुपये जबकि वयस्कों के लिए 30 रुपये होगी। टिकट ऑनलाइन भी मिलेंगी और 50 से अधिक मेट्रो स्टेशनों पर भी उपलब्ध होंगी। मेले में प्रवेश प्रगति मैदान के गेट नं. एक, आठ और 10 से होगा। हॉल नं. 7 के पास एटीएम वैन भी उपलब्ध रहेगी।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.