Home » बोलती तस्वीर » सामान्य » जेल में रहकर चौटाला ने प्रथम श्रेणी में पास की 12वीं की परीक्षा

जेल में रहकर चौटाला ने प्रथम श्रेणी में पास की 12वीं की परीक्षा

MAY 17 , 2017

जानकारी के अनुसार, ओम प्रकाश सिंह चौटाला 82 वर्ष की उम्र में जेल में रहते हुए 12वीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास की है। अब वह ग्रेजुएशन की तैयारी कर रहे हैं। चौटाला टीचर भर्ती घोटाले में 10 साल की सजा काट रहे हैं।

पंचायती चुनाव के लिए कर रहे हैं पढ़ाई

ओम प्रकाश सिंह चौटाला पढ़ाई किन्हीं और कारणों से नहीं बल्कि हरियाणा में पंचायती चुनाव के लिए तय शैक्षणिक योग्यता को ध्यान में रखते हुए कर रहे हैं। सम्भावना है कि विधानसभा चुनाव में भी यह नियम लागू हो सकता है। इसलिए भविष्य में चुनाव लडऩे की सम्भावनाओं को देखते हुए चौटाला जेल में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं।

Advertisement

परीक्षा के लिए ली थी पैरोल

अभय चौटाला ने बताया है कि आखिरी परीक्षा 23 अप्रैल को थी। उस समय वो पैरोल पर रिहा थे। चूंकि परीक्षा केंद्र जेल के अंदर था, इसलिए उन्हें परीक्षा देने के लिए जेल में जाना पड़ा।  ओम प्रकाश चौटाला अपने पोते दुष्यंत सिंह चौटाला की शादी के लिए अप्रैल के दूसरे पखवाड़े में पैरोल पर थे। ओम प्रकाश चौटाला का पैरोल हाल ही में पांच मई को खत्म हुई थी।

शुरू हुई ग्रेजुएशन की तैयारी

ओम प्रकाश सिंह चौटाला ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग से 12वीं की परीक्षा दी। अब परिणाम घोषित होने के बाद अब वह ग्रेजुएशन की किताबें भी मंगवाकर तैयारी शुरु कर दी है।

पिछले दिनों जमानत पर बाहर आए चौटाला ने बताया कि तिहाड़ में उनकी सुबह अखबार की खबरों पर चर्चा के साथ शुरू होती है, इसके बाद पढ़ाई-लिखाई और टीवी देखना रूटीन में शामिल है। पूर्व मुख्यमंत्री के पोते दिग्विजय सिंह ने बताया कि दादा ने स्नातक की किताबें भी मंगवा ली हैं.

गौरतलब है कि ओमप्रकाश चौटाला और उनके बेटे अजय को 16 जनवरी 2013 को जेबीटी शिक्षक भर्ती मामले में 10 साल कैद की सजा सुनाई गई थी। 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.