Home » बोलती तस्वीर » सामान्य » बहराइच के जंगल में मिली ‘मोगली’ गर्ल

बहराइच के जंगल में मिली ‘मोगली’ गर्ल

APR 06 , 2017

जिला अस्पताल में भर्ती इस बच्ची के बारे में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. डीके सिंह ने बताया कि बच्ची डाक्टरों, नर्सों या किसी भी इंसान के पास आने पर जानवरों की तरह चिल्ला उठती है। उन्होंने कहा कि  ना वह किसी की बात समझ पा रही है और ना ही उसकी बात कोई समझ पा रहा है।

बच्ची के शरीर पर जख्म के निशान हैं, जिससे लगता है कि वह जानवरों के साथ कुछ दिन रही है। बच्ची को लकड़ी बीनने गए गांव वालों ने मोतीपुर रेंज में दर्जनों बंदरों से घिरे देखा। बच्ची को बचाने की नीयत से निकट जाने की कोशिश की तो बंदरों ने बच्ची को घेर लिया और गांव वालों पर हमलावर हो गए।

गांव वालों ने पुलिस को सूचित किया और पुलिस ने किसी तरह बच्ची को वहां से निकालकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

Advertisement

अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिापाठी ने आज बताया कि अस्पताल में भर्ती इस बच्ची के माता-पिता के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। उसके हाव भाव देखकर लगता है कि वह बंदरों के बीच लंबे समय से रह रही थी। बच्ची जंगल में नग्नावस्था में बंदरों के बीच पाई गई थी। उसके बाल और नाखून बढ़े हुए थे और शरीर पर कई जगह जख्म थे। उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता बच्ची का समुचित इलाज कराना है। (एजेंसी)


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.