Home » बोलती तस्वीर » सामान्य » जानिए, कौन है वो शख्स जिसने बनाई 'एंग्री हनुमान' की तस्वीर, पीएम मोदी ने भी की तारीफ

जानिए, कौन है वो शख्स जिसने बनाई 'एंग्री हनुमान' की तस्वीर, पीएम मोदी ने भी की तारीफ

MAY 08 , 2018

देश की सड़कों पर चलने वाली कारों के शीशों के पीछे अक्सर आपको भगवान हनुमान के पोस्टर लगे दिखते होंगे। ये पोस्टर पिछले कई दिनों से काफी चर्चा में बने हुए हैं। जहां कई लोग इस पोस्टर की तारीफ कर रहे हैं तो कई लोग इसे उग्र हिंदुत्व का प्रतीक मानकर विरोध कर रहे हैं। इस पोस्टर की तारीफ करने वालों में पीएम मोदी भी शामिल हैं। इस तस्वीर को बनाने वाले आर्टिस्ट करण आचार्या हैं।

पीएम मोदी ने की थी करण आचार्या की तारीफ

दरअसल, पीएम मोदी ने रविवार को कर्नाटक चुनाव में अपने प्रचार अभियान के दौरान करण आचार्या की तारीफ की थी।उन्होंने कहा था, 'करण आचार्य ने हनुमान जी की जो तस्वीर बनाई। उस हनुमान जी की तस्वीर की देशभर में गूंज उठी। देशभर में उसकी चर्चा हुई और वह बहुत प्रशंसनीय है। मैंने देखा कि देशभर के टीवी वाले करण आचार्य का इंटरव्यू लेने के लिए कतार लगाकर खड़े थे। यह करण आचार्य की कला की ताकत थी। उसकी कल्पना शक्ति की ताकत थी। यह मंगलौर का गर्व है।'

कांग्रेस पार्टी को अब कर्नाटक में काम करने का एक दिन भी अधिकार नहीं: मोदी

साथ ही, प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, 'जिनको पेट में दर्द होता है। उन्होंने करण आचार्य जैसे कलाकार की हनुमान जी की तस्वीर को भी विवादों में घसीट दिया और कांग्रेस का जो इको सिस्टम है, वो पूरी तरह उसको बदनाम करने में लग गया। ऐसी मानसिकता वाले लोग जो करण आचार्य की कला को सहन नहीं कर सकते। उनके जेहन में लोकतंत्र होने का कोई सबूत नहीं मिल रहा। ऐसी कांग्रेस पार्टी को अब कर्नाटक में काम करने का एक दिन भी अधिकार नहीं है।'

एंग्री हनुमान नहीं बल्कि ये उनका एटीट्यूड है

'एंग्री हनुमान' की यह तस्वीर बनाने वाले करण आचार्या का कहना है कि 'उन्होंने जो भगवान हनुमान की तस्वीर बनाई है वो गुस्से में नहीं है बल्कि उनके एटीट्यूड की है। मुझे खुशी है कि मेरी कला हर जगह दिख रही है। पीएम की टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि शॉक्ड और खुश दोनों हूं।'


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कर्नाटक निवासी करण आचार्य ने यह तस्वीर करीब 3 साल पहले 2015 में अपने गांव के यूथ क्लब के लिए बनाई थी। करण मूलतः केरल के कासरगोड जिले के कुंबले गांव के रहने वाले हैं। 

कैसे बनाई गई ये तस्वीर
हनुमान जी की गुस्‍से वाली तस्‍वीर किस तरह बनाई गई इस पर करण आचार्य ने कहा, ‘गणेश चतुर्थी के दौरान मेरे दोस्तों ने एक ऐसी तस्वीर बनाने को कहा जो काफी यूनीक हो। हमने कुछ अलग आर्टवर्क करने की सोची। गूगल में सर्च करने पर भगवान हनुमान की कई तस्वीरें आती हैं। मैंने उनसे कुछ अलग करने की सोची।

उन्होंने कहा, मैंने एक ही रंग से हनुमान की तस्वीर बनाने के बारे में सोचा। मैंने ऑरेंज कलर सिलेक्ट किया क्योंकि ये रंग भगवान हनुमान का प्रतीक माना जाता है। इस आर्ट को बनाने में आधे घंटे का समय लगा। मुझे यकीन नहीं था कि ये तस्वीर इतनी वायरल हो जाएगी।'


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.