Home » मीडिया » सोशल मीडिया » हिंदी पखवाड़ाः हिंदी में मोज़िला के योगदान की मीडिया समीक्षा

हिंदी पखवाड़ाः हिंदी में मोज़िला के योगदान की मीडिया समीक्षा

SEP 08 , 2015
हिंदी पखबाड़ा के अवसर पर आयोजित मोज़िला हिंदी कार्यशाला और समीक्षा बैठक एक प्रासंगिक आयोजन रहा। मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स हिंदी कार्यशाला एवं समीक्षा बैठक का आयोजन मोजिला की ओर 5-6 सितंबर को दिल्ली में किया गया। इस सम्मेलन में भारत के विभिन्न शहरों से लोग आए और कार्यक्रम में शिरकत की। सूचना-प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम कर रहे करीब 25 जाने-माने लोग इस कार्यक्रम में उपस्थित थे। इस कार्यक्रम की मेजबानी सेंटर फ़ॉर स्टडी ऑफ़ डेवलपिंग सोसायटी, दिल्ली ने की।

मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स के कई उत्पाद हिंदी में भी उपलब्ध हैं जिसके स्थानीयकरण की प्रक्रिया समुदाय आधारित है। मोजिला का यह एक सामुदायिक सम्मेलन था जिसमें मोज़िला के अंतर्गत हिंदी के लिए काम करने वाले लोग उपस्थित थे। जाने-माने ब्लॉगर रवि रतलामी, इतिहासकार रविकांत,मोज़िला काउंसिल मेंबर शाहिद फारूकी,मोज़िला हिंदी के कोआर्डिनेटर राजेश रंजन, टेक्नॉलॉजिस्ट उमेश अग्रवाल, सूरज कावडे, आशीष नामदेव,संगीता कुमारी सहित पच्चीस कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम में दो दिन तक लगातार काम करके अनुवाद,तकनीकी समस्या,हिंदी ब्राउजर के प्रचार-प्रसार,स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं और अनुवादकों की टोली में नए लोगों की भर्ती आदि मुद्दों पर बातें की। दिल्ली के कुछ स्थानीय लोगों ने भी शिरकत की जिसमें मीडिया विश्लेषक विनीत कुमार,पत्रकार दिनेश श्रीनेत्र महत्वपूर्ण थे। सीएसडीएस की कंप्यूटिंग टीम ने भी इसमें हिस्सा लिया। मोज़िला हिंदी की वेबसाइट और सॉफ्टवेयर के अऩुवाद की समीक्षा पर भी विस्तार से बातें हुईं और आगे की कार्ययोजना भी बनाई गई। कुछ नए अनुवादकों के प्रशिक्षण के लिए भी कार्यक्रम बनाए गए। इस अवसर पर स्वयंसेवी अनुवादकों के बीच कॉफी मग,स्टिकर आदि कुछ गुडीज भी वितरित किए गए मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स के डेस्कटॉप ब्राउज़र यहाँ से डाउनलोड किए जा सकते हैं -

Advertisement

http://tinyurl.com/firefoxhindi

मोज़िला एक फ्री सॉफ्टवेयर कम्युनिटी है जो दुनिया के कई जाने-माने उत्पाद बनाती है। फ़ायरफ़ॉक्स वेब ब्राउज़र और मोबाइल ब्राउजर, मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम, थंडरबर्ड ईमेल क्लायंट और बगजिला बग ट्रैकिंग सिस्टम सहित कई महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर के निर्माण से यह जुड़ी है। मोज़िला के उत्पाद हिन्दी सहित भारत के कई भाषाओं में उपलब्ध हैं।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.