Home » मैगज़ीन डिटेल

मैगज़ीन डिटेल

आज कई विद्रूपताएं हमारे सामने हैं। एक ओर ‘राष्ट्रवाद’ का नया दौर है, जो आजादी की लड़ाई के दौरान बने भारत के विचार को खारिज करता दिखता है तो दूसरी ओर हर मामले में यह धारणा मजबूत होती गई है कि इसमें मेरे लिए क्या है। यह धारणा परिवार, समाज, सत्ता और कारोबार सभी जगह हावी हो गई।
हरवीर सिंह

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.