Advertisement
Home मैगज़ीन डिटेल
मैगज़ीन डिटेल

आवरण कथा/मीमः वायरल का नया फंडा

मीम की लोकप्रियता, उसके जरिये मार्केटिंग में कंपनियों, सितारों और राजनैतिक दलों की बढ़ती दिलचस्पी गवाह है कि आगे का दौर उसी का

पंजाब: मितरां नूं शौक हथियारां दा...

लोकप्रिय गीतों में शस्त्र-प्रदर्शन के बढ़ते चलन ने पंजाब को खतरनाक मुहाने पर पहुंचा दिया

2024 की चुनौतियां/झारखंड : छोटे राज्य में बड़ी लड़ाई

मुख्यमंत्री सोरेन जनाधार बढ़ाने और पकड़ मजबूत करने में जुटे, लेकिन भाजपा गुटबाजी में फंसी

आवरण कथा/मीम कारोबारः खरचा थोड़ा मीम रंग चोखा

कंपनियों के अच्छे-खासे विज्ञापन बजट का रुख मीम की ओर हुआ, ऐक्टर-ऐक्ट्रेस और राजनीतिक दल भी लोगों का दिल छूने के लिए इस ओर झुके

मीम मसालाः वायरल मीम के चैंपियन किरदार

डोनाल्ड ट्रंप से शशि थरूर, अर्णब गोस्वामी से पंकज त्रिपाठी तक, मीम सेना की पसंद हैं चुनिंदा शख्सियतें

मीम मंत्र/इंटरव्यू/अशोक पाठकः ‘हर ब्रांड ने बनाया है मेरे ऊपर मीम’

अशोक 'शंघाई', 'आर्या'-2 और 'सेक्रेड गेम्स' में भी छोटे-मोटे किरदार निभा चुके हैं

मीम मंत्र/इंटरव्यू/दुर्गेश कुमारः ‘मीम ने मुझे घर-घर पहुंचा दिया’

नवाजुद्दीन सिद्दीकी सर ने कॉल कर के बधाई दी, लगा कि फिल्मफेयर मिल गया है

बॉलीवुडः फिल्मों में स्त्री अभिव्यक्ति

हिंदी फिल्मों में बलात्कार के महिमामंडन से लेकर आलोचनात्मक चित्रण तक का सफर

सप्तरंग

ग्लैमर जगत की हलचल

वन्यजीव/चीता: घर आया तेज धावक परदेसी

विलुप्त होने के दशकों बाद अफ्रीकी प्रजाति के चीतों को कूनो के मनोरम जंगल में छोड़ा गया, मगर कई सवाल भी खड़े

दशहरा स्पेशलः मिथिला के राम

राम संसार के लिए कुछ और हैं, पर मिथिला के लिए कुछ और! मिथिला ने उन्हें इतना प्रेम किया कि बेटी के जीवन का सारा संघर्ष भूल गया

इंटरव्यू/ भूपेश बघेल: ‘भारत में पदयात्राओं की एक समृद्ध परंपरा है’

केंद्र की सरकार तमाम आवाजों को दबा रही है, मीडिया का मुंह बंद कर रही है

पुस्तक समीक्षाः गांधी पंचतंत्र

गांधी पर फूल-माला चढ़ाने के साथ उन पर वार करने का पाखंड जारी है

प्रथम दृष्टि: राजस्थान के संकेत

राजस्थान की ताजा घटनाएं तो यही बयां कर रही हैं कि आलाकमान जैसी व्यवस्था के दिन अब लदने लगे हैं

पत्र संपादक के नाम

भारत भर से आई पाठको की चिट्ठियां

गांधी जयंती: जो तोड़ने से भी न टूटे वही गांधी है

गांधी की हर विखंडित प्रतिमा दरअसल हमें विखंडित करती है और हमें ही चुनौती भी देती है

गांधी जयंती: जाति पर सबसे करारी चोट गांधी की

गांधी के अपने, परिवार और आश्रम के जीवन में जातिवाद, जातिगत भेदभाव, जाति और हिंदू धर्म से जुड़ी कुरीतियों का स्थान लगभग नहीं, जातिगत जड़ता दूर करने में गांधी भक्ति आंदोलन के संतों से भी ऊपर

शहरनामा/चंडीगढ़

भारत का पहला सुनियोजित शहर

पुलिस सुधार/नजरियाः जनता की हो पुलिस

लोकतंत्र की रक्षा और देश में अमन-चैन के लिए पुलिस को नेताओं की सलामी से निजात दिलाना होगा


Advertisement
Advertisement