Home मैगज़ीन डिटेल
मैगज़ीन डिटेल

आवरण कथा/बैंकिंग व्यवस्था/भगोड़ों की मौज, भंवर में फंसे बैंक

एनपीए बढ़ा, बैंकों को गहराते संकट से उबारने के उपाय ऊंट के मुंह में जीरे के सामान, गलतियों से सबक सीखने के प्रति लापरवाही, दिवालिया संहिता से सवालिया घेरे में बैंक, याराना पूंजीवाद और भगोड़ों पर कोई खास अंकुश नहीं

आवरण कथा/भगोड़ों की दुनिया/बिंदास शानो-शौकत

बैंकों को हजारों करोड़ का चूना लगाने के बावजूद इनकी शानो-शौकत और ऐशो-आराम में कोई कमी नहीं

आवरण कथा/कर्ज धोखाधड़ी/बट्टे खाते का खेल

हाल के वर्षों में बैंक फ्रॉड और राइटऑफ किए गए कर्ज की रकम दोनों तेजी से बढ़ी, इस खेल में कौन-कौन शामिल

आवरण कथा/नजरिया/बेलगाम धोखाधड़ी

2014-19 के बीच 38 लोग फ्रॉड करके देश छोड़ गए, इससे कई सवाल खड़े होते हैं

उत्तराखंड/अब पुष्कर राज

राज्य में बुरी तरह नाराजगी झेल रही भाजपा ने खेला चुनावों के पहले फेरबदल का दांव

बॉलीवुड/हकीकत या फसाना?

रील और रियल का फासला हुआ धुंधला, असली घटनाओं और शख्सियतों पर आधारित कहानी को काल्पनिक बताकर पेश करने का नया कामयाब फॉर्मूला

बॉलीवुड/“रानी भारती काल्पनिक, राबड़ी देवी नहीं”

हुमा कुरैशी ने करिअर की शुरुआत दिल्ली में थिएटर करते हुए की थी

बॉलीवुड/“लालू जी जैसा तो नहीं”

महारानी में अपनी भूमिका के लिए सोहम शाह को जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है

सप्तरंग

ग्लैमर जगत की हलचल

आरएसएस/चुनावी गियर में संघ

आम तौर पर चुनावों में परदे के पीछे रहने वाला राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उत्तर प्रदेश जैसे बड़े दांव वाले राज्य में खुल कर सामने, संघ नेता ही भाजपा में असंतोष दूर कर रहे

केंद्रीय फेरबदल/संकट टालने को कुनबा किया बड़ा

महंगाई, बेरोजगारी और कोविड की दूसरी लहर में अव्यवस्था से उपजी नाराजगी से निजात पाने के लिए क्षेत्र, जाति- समुदाय और सहयोगी दलों का समीकरण चुस्त करने की कवायद

बिहार/जी, मंत्री जी नहीं तो लो इस्तीफा

नीतीश सरकार में मंत्री-अधिकारियों की तनातनी से सियासी हलचल

पुस्तक समीक्षा/ सवा सौ साल पुरानी पत्रकारी नजीर

आज का दौर देख कई बार पत्रकार होने और पत्रकारिता से तौबा कह देने का विचार प्रबल हो जाता है

पुस्तक समीक्षा/ इंसाफ और कानून का द्वंद्व

कानून और इंसाफ की मुठभेड़ की मिसाल आज के दौर से बेहतर शायद ही कोई हो

कोविड-19/तीसरी लहर/डेल्टा प्लस की डरावनी दस्तक

टीकाकरण में तेजी में आ रही दिक्कतों को दूर करने और स्वास्थ्य ढांचे में सुधार पर ही निर्भर है कि नए ज्यादा संक्रामक वेरिएंट का असर कितना होगा

कोविड-19/ऑक्सीजन आपदा/हांफते-हांफते जो हमें छोड़ गए

अप्रैल में बांध टूटा और समूचा देश ऑक्सीजन के संकट से घिर गया और पूरा स्वास्थ्य ढांचा चरमरा गया

संपादक की कलम से/स्टेन स्वामी को किसने मारा?

स्वामी को सरकार के साथ-साथ न्यायपालिका ने भी बुरी तरह झटका दिया

संपादक के नाम पत्र

भारत भर से आईं पाठकों की चिट्ठियां

अंदर खाने

सियासी दुनिया की हलचल

खबर चक्र

चर्चा में रहे जो

कोविड-19/नजरिया/संक्रमण काल की प्रतिबद्धता

रोग व मृत्यु के साथ शासक वर्ग की अकर्मण्यता के दौर में बुद्ध की सामाजिक प्रतिबद्धता के संदेश प्रासंगिक

विमर्श/लोकतंत्र और विशेषाधिकार

नागरिक अधिकारों, स्वतंत्रताओं को सीमित और सत्ता-प्राप्त व्यक्तियों के अधिकारों को व्यापक बनाया जा रहा

शहरनामा/चौखुटिया

देव-भूमि उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में बसी ‘रंगीली-गेवाड़ घाटी’ यानी अपना प्यारा चौखुटिया

स्मृति/वंचितों के फादर

स्टेन के चले जाने की खबर से बगईचा शोक में है

स्मृति/जब तक एक्टिंग है, दिलीप साहब जिंदा रहेंगे

पूरी दुनिया में फिल्मों में अगर कोई पहला मेथड एक्टिंग करने वाला अभिनेता था तो वे दिलीप साहब ही थे