Home मैगज़ीन डिटेल
मैगज़ीन डिटेल

आवरण कथा/जनादेश'21: ध्रुवीकरण की धमक

अब ध्रुवीकरण की राजनीति हिंदू-मुसलमान तक सीमित नहीं, उसमें जाति, संप्रदाय और क्षेत्रीयता के नए तत्व भी जुड़े

महाराष्ट्रः बिगड़ैल पुलिस वालों का फंदा

सचिन वझे अकेले नहीं, राजनैतिक संरक्षण प्राप्त एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिसवालों की लंबी फेहरिस्त

महाराष्ट्र/नजरियाः परम दुष्चक्र

विस्फोटक सामग्री से भरी कार की तह में जाएं तो पता चलता है कि मामला कहीं ज्यादा विस्फोटक है, यह महा विकास आघाडी सरकार को गिराने की साजिश

महाराष्ट्र/नजरियाः मुखिया पर निर्भर महकमा

वरिष्ठता की अनदेखी पुलिस बल में अनुशासनहीनता को बढ़ावा देती है, जो सबके लिए नुकसानदेह

बिहारः कानून ‘काला’ या सुशासन खाली

विवादास्पद सशस्त्रा पुलिस कानून और कई पुलिसिया सर्कूलर से कमजोर नीतीश ने मुसीबतों को बुलावा दिया, विपक्ष को मिला मौका

पंजाबः कैप्टन की पिच पर नहीं जमे सिद्धू

सिद्धू पुराना स्थानीय निकाय विभाग चाहते हैं, लेकिन यह विभाग अमरिंदर के खास ब्रह्म महिंद्रा के पास

दिल्लीः बेमानी हुई विधानसभा

केंद्र ने चुनी हुई सरकार को अधिकार के सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटा, अब उप-राज्यपाल ही होंगे असली दिल्ली सरकार, हर फैसले में मंजूरी जरूरी

कुंभः कोरोना का साया

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री ने हर 'रोक-टोक' हटाकर आस्था पर बल दिया मगर महामारी की तेजी ने फीकी कर दी रौनक

हिमाचल प्रदेशः इम्तिहान की बेला

चार नगर निगमों के चुनाव को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा है

आवरण कथा/असम: ‘मिया’ का सहारा

सीएए-एनआरसी का जिक्र करने से भी बच रही भाजपा बदरुद्दीन अजमल को ‘दुश्मन’ बता चुनाव जीतने की जुगत में

आवरण कथा/पश्चिम बंगाल: फिजा में भड़कते शोले

भाजपा खुल कर हिंदू-मुसलमान खेल खेलने पर उतरी तो तृणमूल भी खुद को हिंदू-हितैषी बताने में लग गई

आवरण कथा/केरल: बंटवारे के बीज लगे फूटने

भाजपा की कोशिशें तो छोटी, मगर मुख्यधारा की हर पार्टी तरह-तरह की दरारों को तीखा करने में जुटी, ताकि वोट गोलबंद किया जा सके

आवरण कथा/तमिलनाडु: मंदिर मुक्ति दांव का बढ़ता दायरा

मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से बाहर करने की मुहिम से द्रमुक परेशान

आवरण कथा/मुस्लिम प्रतिनिधित्व: घटती दावेदारी का दंश

बदलती राजनीति में अल्पसंख्यक समुदाय की कम होने लगी है आवाज

बॉलीवुडः महानायक धर्मेंद्र

छह दशक में उनका करिअर दो सदियों में ‍बंटा हुआ

सप्तरंग

ग्लैमर जगत की हलचल

साहिर शताब्दीः पल, दो पल का शायर

साहिर लुधियानवी की शायरी में अपने वक्त और आम आदमी के हक-हुकूक की आवाज खुलकर उठी

आरएसएसः नए बदलाव के मायने

मोदी के करीबी दत्तात्रेय होसबले नंबर 2 बने, राम माधव लौटे और अटल-आडवाणी दौर के नेता हुए पीछे

पुस्तक समीक्षाः साहित्य में सामाजिक आंदोलन

दलित आंदोलन और दलित साहित्य की पड़ताल करती किताब

कोविड-19 की नई लहर: डरावने तेवर में कोरोना

सितंबर से फरवरी तक संक्रमण घटने से बेपरवाही बढ़ी, अब फिर तेजी से फैल रही महामारी

कोविड-19: फार्मा इंडस्ट्री की पौ बारह

पेटेंट और जरूरी कंपोनेंट मिलने में दिक्कतों के बावजूद भारत की दवा कंपनियों के लिए मौके बढ़े

संपादक की कलम सेः महामारी और महारोग

अफसोस! सामुदायिक ताने-बाने को तार-तार करने वाले ऐसे संगीन महारोग के लिए कोई वैक्सीन उपलब्धच नहीं है।

संपादक के नाम पत्र

पिछले अंक पर आईं प्रतिक्रियाएं

अंदरखाने

सियासी दुनिया की हलचल

खबरचक्र

चर्चा में रहे जो