Home मैगज़ीन डिटेल
मैगज़ीन डिटेल

आवरण कथा/इंटरव्यू : “जनता का भरोसा हमारा प्रमाण पत्र”

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का दावा है कि सरकार राज्य की जनता से किए वादे पूरे कर रही है। विपक्ष के समय काम की जो संस्कृति थी, अब वह प्रदेश में नहीं चलती है। आउटलुक के भारत सिंह के साथ हुई बातचीत के अंश:

आवरण कथा: उत्तर प्रदेश चार साल, वादों का हाल

सरकार का दावा कि सुधारवादी नीतियों से प्रदेश दूसरे राज्यों के लिए रोल मॉडल बना, पर विपक्ष के मुताबिक दावा खोखला

आवरण कथा/इंटरव्यू : “ब्रांडिंग-होर्डिंग के अलावा कुछ नहीं हुआ”

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार के चार साल पूरे हो रहे हैं। ये चार साल कैसे रहे, इस पर कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू से आउटलुक के प्रशांत श्रीवास्तव ने बात की। प्रमुख अंश:

आवरण कथा/ उत्तर प्रदेश/विपक्ष: बड़े तो बस ट्विटर बहादुर

राज्य में विपक्ष के बड़े किरदारों सपा और बसपा में सक्रियता का अभाव आश्चर्यजनक

बिहार : दो पाटन के बीच भाजपा

दो झगड़ालू सहयोगियों जद-यू और लोजपा के बीच तालमेल बैठाना भाजपा के लिए बना सिरदर्द

तमिलनाडु : चिन्नमा चर्चा के पेचोखम

शशिकला की वापसी से अन्नाद्रमुक की करीने से बनाई योजनाओं में लग सकता है पलीता

उत्तराखंड ग्लेशियर : आपदा आसन्न विपदा की चेतावनी

चमोली की आपदा फिर हिमालय की पारि‌स्थितिकी पर सोचे-विचारे बिना बेरोकटोक परियोजनाओं पर फौरन पुनर्विचार का मौका दे गई

उत्तराखंड ग्लेशियर आपदा/नजरिया : अभिशप्त भूमि

चमोली आपदा भारी जोखिम वाले हिमालय की प्राकृतिक संरचना बदलने की कोशिश पर दोबारा चेतावनी जैसी

महाराष्ट्र : विमान राजनीति के अक्स

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीच खींचतान के नए दौर की अजीबोगरीब शुरुआत

सप्‍तरंग

सप्‍तरंग

फिल्म : कालीन भैया के बाऊ जी

कुलभूषण खरबंदा ऐसे कलाकार हैं, जिनके लिए भूमिकाएं लिखी नहीं जा सकतीं, क्योंकि वे किसी किरदार को निभाते नहीं, बल्कि जीते हैं

किसान आंदोलन : अब पंचायतजीवी चुनौती का आगाज

सरकार भी सख्त और किसान नेताओं के तेवर भी हुए तल्ख, महापंचायतें ही नहीं, एक-दूसरे के खिलाफ दलीलें हुईं आम

पेट्रोल-डीजल : बढ़े तो ज्यादा दो, घटे तो हमें दो

2014 में जब मोदी सरकार आई, तब की तुलना में कच्चे तेल की कीमत आधी लेकिन ईंधन के दाम 30 फीसदी ज्यादा, पेट्रोल 100 के पार पहुंचा

सोशल मीडिया: असहमति पर बढ़ती दबिश

सामाजिक कार्यकर्ताओं और पत्रकारों की गिरफ्तारी से यह संदेश गया कि सरकार को असहमति के सुर मंजूर नहीं

इंटरव्यू/मान्या सिंह : ‘‘यह ताज सिर्फ खूबसूरत लोगों को नहीं मिलता’’

जहां चाह, वहां राह! उत्तर प्रदेश के छोटे-से शहर देवरिया की मान्या सिंह ने इस कहावत को हकीकत में बदल दिया है। 20 साल की मान्या ने वीएलसीसी फेमिना मिस इंडिया 2020 रनर-अप का खिताब अपने नाम किया। उनके पिता ओमप्रकाश सिंह ऑटोरिक्शा चलाते हैं। आउटलुक के नीरज झा के साथ उन्होंने इस मंच तक पहुंचने के अपने सफर पर बात की। कुछ अंशः

इंटरव्यू : “रिहाना या ग्रेटा का किसानों का समर्थन करना गलत नहीं”

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में लाल किले की घटना के बाद जो 257 टि्वटर हैंडल सस्पेंड किए गए थे, उनमें ‘द कारवां’ पत्रिका का टि्वटर हैंडल भी शामिल था। ज्योतिका सूद के साथ बातचीत में पत्रिका के कार्यकारी संपादक विनोद के. जोस ने बताया कि सोशल मीडिया, पत्रकार और सरकार कैसे काम कर रही है। मुख्य अंश:

पुस्तक समीक्षा : साठ साल पहले अंतरराष्ट्रीय जगत में भारतीय किसानों की आवाज

पुस्तक समीक्षा : साठ साल पहले अंतरराष्ट्रीय जगत में भारतीय किसानों की आवाज

प्रथम दृष्टि : स्वरा भी, कंगना भी

हम भूल जाते हैं कि स्वरा भास्कर को भी अपनी बात कहने का उतना ही अधिकार है, जितना कंगना रनौत को, भले ही उनकी निजी या सार्वजानिक राय हमारे अपने पूर्वाग्रहों से प्रेरित मानकों पर खरी उतरे या नहीं

संपादक के नाम पत्र

संपादक के नाम पत्र

शहरनामा : सीहोर

शहरनामा : सीहोर

खबर-चक्र

खबर-चक्र

अंदरखाने

“जब गृह मंत्री हमारे पार्टी अध्यक्ष थे तो एक चर्चा के दौरान हमने उनसे कहा कि भाजपा अब कई राज्यों में सत्ता में आ चुकी है। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि नेपाल और श्रीलंका अभी बचे हुए हैं - बिपल्व देव, मुख्यमंत्री, त्रिपुरा