Home मैगज़ीन डिटेल
मैगज़ीन डिटेल

वर्चुअल दुनिया का दौर

कोविड-19 संकट में टेक्नोलॉजी ने नए आयाम खोले, लेकिन डिजिटल डिवाइड की खाई बड़ी चुनौती

अनिश्चितता में राजनीति

महामारी पर काबू पाने की रणनीतियां नाकाम, स्वास्‍थ्य ढांचा चरमराया, सरकारों के बीच तालमेल के बदले बेइंतहा लापरवाहियां हुईं उजागर। लोग महामारी और आर्थिक बदहाली से पस्त

सिर मुड़ाते ही ओले

सिंधिया समर्थकों और भाजपा के पुराने नेताओं में मंत्री न बनाए जाने से असंतोष भारी, राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग की आशंका

सेंधमारी की कोशिश

राज्यसभा चुनाव में दोनों पक्ष एक-दूसरे के विधायक तोड़ने के प्रयास में

साय की नियुक्ति से मजबूत हुए रमन

पहले नेता प्रतिपक्ष और अब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, दोनों नियुक्तियों में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की चली

नई राजधानी का तोहफा

गैरसैंण बनेगी ग्रीष्मकालीन राजधानी, विपक्ष का सवाल कि कहां बनेगी स्थायी राजधानी

बेदम होते रोजगार के सरकारी दावे

उद्योग अभी तो पुरानी क्षमता का आधा भी इस्तेमाल नहीं कर पा रहे, नए रोजगार तो दूर की कौड़ी

सरकार की साख पर गंभीर सवाल

यूपी शिक्षक भर्ती घोटाला: शिक्षकों की भर्ती पर अदालत की रोक से नियुक्ति संदेह के घेरे में

लॉकडाउन की आड़ में घोटाला

एक ही दिन में जारी किए शराब के 436 परमिट, अवैध बिक्री से सरकार को एक हजार करोड़ रुपये का नुकसान

सरकारों, सियासी दलों को भाए डिजिटल मंच

कैबिनेट बैठकों से लेकर रैलियों तक सब कुछ ऑनलाइन हुआ, विपक्ष ने भी ऑनलाइन ही निभाई भूमिका

इलाज भी ऑनलाइन

संकट के दौर में शुरू टेलीकंसल्टेंसी सेवा आगे भी जारी रहने की उम्मीद

ई-कॉमर्स की चांदी पर झंझट कई

बाजार जाना हुआ मुश्किल तो ऑनलाइन शॉपिंग के पौ बारह, नए खरीदार आए, नए शहरों में बढ़ा कारोबार

साइबर अपराधियों के भी पौ बारह

लॉकडाउन में लोगों ने ऑनलाइन का सहारा लिया तो साइबर अपराधियों को मिला मौका

महामारी से और बढ़ा फासला

शहरी गरीब और ग्रामीण अभी तक डिजिटल क्रांति के आसपास भी नहीं, तिस पर रोजगार गंवाने से इंटरनेट, मोबाइल पहुंच भी घटी

महामारी के बीच बॉलीवुड के हालात

कई बड़ी फिल्मों के ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आने से फिल्मकारों और सिनेमाघर मालिकों के बीच ठनी

संक्रमण की दूसरी लहर

भारत दुनिया में चौथे नंबर पर पहुंचा, काबू पाने की रणनीति नाकाम, एक और लॉकडाउन की आशंका

आर्थिक सुधार यात्रा की कहानी

पुस्तक समीक्षा

हीरोइनगीरी

सप्‍तरंग

अपनी-अपनी पवित्र भूमि की महायात्रा

कोरोना और लॉकडाउन से गरीब-मजदूरों का अपने गांव का सफर दुनिया की पवित्र-त्रासद यात्राओं के समान

किसान हित या कॉरपोरेटाइजेशन

किसानों के उत्पादों को संगठित क्षेत्र के तहत लाने के नए अध्यादेशों से इस कारोबार में बड़े कॉरपोरेट समूहों के उतरने का रास्ता खुल गया है

जहां श्रीकृष्ण ने रुक्मणि के साथ विवाह किया था

द्वारका के पास स्थित माधवपुर घेड को गुजरात सरकार पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करना चाहती है