Home मैगज़ीन डिटेल
मैगज़ीन डिटेल

युवा बोले हम देखेंगे

विश्वविद्यालय बने टकराव का अखाड़ा, तो परिसरों और सड़कों पर नाराज छात्र और नौजवानों का पहरा

यह डरावना विमर्श!

आर्थिक विकास के लिए स्थिरता, सामाजिक समरसता और सद्भाव सबसे जरूरी है। उम्मीद है, सरकार जेएनयू मुद्दे को गंभीरता से लेगी। कुलपति तो बने रहने का नैतिक अधिकार खो चुके हैं

हरियाणा: जजपा में बागी सुर हुए तेज

उप-मुख्यमंत्री अपने विधायकों के असंतोष से परेशान, मगर भाजपा सरकार को निर्दलीय विधायकों के समर्थन के कारण खास फिक्र नहीं

महाराष्ट्र: फिलहाल तो गद्दी बरकरार

मंत्रिमंडल विस्तार में देरी और कुछ विवादी स्वरों के बावजूद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन सुर्खरू

मैदानी दांव से दुविधा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पद का चुनाव मैदानी-पहाड़ी विवाद में उलझा

जेएनयू हिंसा से हैरान देश गुस्से में

नकाबपोश हिंसा से देश भर के परिसरों में नौजवानों और समाज का धैर्य टूटा, लंबे अरसे से घुमड़ रहे असंतोष के फूट पड़ने से सरकार के सामने चुनौतियां दरपेश, क्या इससे नई राह निकलेगी?

जन आंदोलन का रूप लेता विरोध

युवाओं के हाथ में कमान, लेकिन हर वर्ग के लोगों का मिल रहा है समर्थन; भाजपा के ज्यादातर सहयोगी दलों ने भी सीएए से किनारा किया

सीएए में संजीवनी ढूंढ़ता विपक्ष

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के हिंसक होने और पुलिस की सख्त कार्रवाई पर सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश

शाहीनबाग: सबसे अनूठा विरोध

90 साल की असमा खातून, 82 साल की बिलकीस, 75 साल की सरवरी और 70 साल की नोन निसा समेत सैकड़ों औरतें छोटे-छोटे बच्चों के साथ दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में बीच सड़क पर अस्थायी तंबू के नीचे डटी हैं।

दुनिया पर युद्ध का साया

खाड़ी देशों में 80 लाख भारतीय रहते हैं, ऐसे में तनाव बढ़ने से भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी असर पड़ सकता है

अमेरिका-ईरान तनाव- दुनिया पर युद्ध का साया

खाड़ी देशों में 80 लाख भारतीय रहते हैं, ऐसे में तनाव बढ़ने से भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी असर पड़ सकता है

जम्मू-कश्मीर: फारूक की पहेली में फंसा केंद्र

घाटी में नेताओं ने गिरफ्तारी को चुनौती नहीं दी, तो केंद्र भी कदम पीछे खींचने पर मजबूर

कैसे टूटे मंदी का दुश्चक्र

सरकार ने माना कि अर्थव्यवस्था की हालत गंभीर, अब देखना है कि वह क्या बड़े कदम उठाती है

मेहरबानी पर सवाल

ट्रायल में चीन की हुवावे को शामिल करने को लेकर उठे सवाल, कंपनी पर अमेरिका ने लगाया है साइबर जासूसी का आरोप

उथल-पुथल के दौर में साहित्य संसार

गांधी के जीवन, घटनाओं और विचारों के प्रति नए सिरे से रुचि तो बढ़ी ही, सामाजिक प्रश्नों पर जानने-समझने की रुचि भी ज्यादा दिखी

“फिल्म निर्माता और अदाकार दोनों एक साथ होना बेहद चुनौतीपूर्ण”

हर फिल्म इस मामले में आपकी परीक्षा लेती है कि आप उसका संदेश सही अर्थों में कैसे दर्शकों तक पहुंचा पाते हैं

नाराज नौजवान सड़क पर

जेएनयू में नकाबपोश गुंडों के हमले बने घुमड़ रहे असंतोष और गुस्से की चिंगारी

सारा ने बढ़ाया पारा

सारा ने बढ़ाया पारा

विधानसभा चुनाव’ 20/दिल्ली- देखन में छोटी, लड़ाई बड़ी

चुनाव की घोषणा के साथ सरगर्मियां तेज, केजरीवाल के मुकाबले भाजपा के पास चेहरा नहीं

आदिवासी राजनीति: जंगल पर नई दावेदारी

हाल के विधानसभा चुनावों के नतीजे गवाह ‌हैं कि आदिवासी समाज का भाजपा से मोहभंग हुआ, लेकिन असली सवाल यही कि क्या जल, जंगल, जमीन के मुद्दे हल होंगे

राजनीति का कवि

डीपीटी फ़ैज़ के बहुत नजदीक थे और जेएनयू से उन्हें बेहद प्यार था, आज इन दोनों पर हमले हो रहे हैं

कोई लौटा दे मेरे....

भारत सिर्फ राष्ट्र नहीं, बल्कि विचार है तो जेएनयू इस विचार का जीता-जागता स्वरूप, इसे संजोकर रखिए

सोच पर बर्बर हमला

जेएनयू की प्रतिष्ठा के लिए बीते 70 दिन सबसे ज्यादा विध्वंसकारी

भारत-विचार की रक्षा करें

मौजूदा सामाजिक और राजनैतिक हालात से देश के बुनियाद के ही नष्ट होने का खतरा

इन नीतियों से कृषि नहीं उबरेगी

नीतियों का फोकस बदलें और प्रतिबंधों से मुक्त कर किसान को अपनी बुद्धिमानी से चयन करने दें

5जी से हुवावे को बाहर रखना जरूरी

चीन की कंपनियों की एंट्री राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है, कई देशों ने हुवावे को प्रतिबंधित कर दिया

हम हैं साथी चीनी मिलों के

सरकार की नीतियां हमेशा चीनी मिलों के पक्ष में रही हैं, लेकिन किसानों के लिए दो साल से गन्ने का राज्य परामर्श मूल्य नहीं बदला है