Home » रहन-सहन » सामान्य » टचस्क्रीन के ज्यादा इस्तेमाल से बच्चों को पेन-पेंसिल पकड़ने में आ रही दिक्कत

टचस्क्रीन के ज्यादा इस्तेमाल से बच्चों को पेन-पेंसिल पकड़ने में आ रही दिक्कत

FEB 27 , 2018

अगर आपके बच्चे ज्यादा देर तक टचस्क्रीन स्मार्टफोन या फिर गैजेट का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान रहने की जरूरत है। ब्रिटेन में हुई एक स्टडी में बच्चों के लिए टचस्क्रीन को नुकसानदायक बताया गया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि टचस्क्रीन से बच्चों की अंगुलियों की मांसपेशियां प्रभावित होती हैं। इससे उन्हें पेंसिल या पेन पकड़ने में मुश्किल आ सकती है। यही वजह है कि टेक्नोलॉजी के ज्यादा इस्तेमाल से कई बच्चे देर से लिखना सीख पाते हैं। इस तरह के कई मामले सामने भी आए हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि टचस्क्रीन के इस्तेमाल से बच्चों की मांसपेशियों में बहुत कम उम्र से ही अकड़न आने लगती है। इसकी वजह से वो देर तक पेन या पेंसिल नहीं पकड़ पाते। दरअसल पेन या पेंसिल चलाने के लिए आपकी अंगुलियों की मांसपेशियों पर पूर्ण नियंत्रण होना चाहिए। शोधकर्ताओं ने अभिभावकों को आगाह करते हुए कहा कि बच्चों को स्मार्टफोन या टैबलटे देने की बजाय पेंटब्रश पकड़वाना चाहिए। इससे उनके हाथों की क्षमता का विकास होता है और मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं।

इस शोध को ब्रिटेन के हार्ट ऑफ इंग्लैंड फाउंडेशन ने कराया है। प्रमुख शोधकर्ता सैली पायने का कहना है स्कूल में देखा गया है कि बच्चों को पेन या पेंसिल पकड़ने में दिक्कत हो रही है। लेकिन अब से 10 साल पहले ऐसा नहीं था। यह बच्चों के ज्यादा मात्रा में टचस्क्रीन का इस्तेमाल करना है। शोधकर्ताओं का कहना है कि बच्चों के मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए उन्हें टचस्क्रीन की जगह ब्रश पकड़वाए  और उनके साथ शारीरिक श्रम वाले खेल खेलें।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.