Home रहन-सहन सामान्य पहली बार मृत डोनर से मिले गर्भाशय से हुआ बच्ची का जन्म

पहली बार मृत डोनर से मिले गर्भाशय से हुआ बच्ची का जन्म

आउटलुक टीम - DEC 05 , 2018
पहली बार मृत डोनर से मिले गर्भाशय से हुआ बच्ची का जन्म
पहली बार मृत डोनर से मिले गर्भाशय से हुआ बच्ची का जन्म
File Photo

मेडिकल हिस्ट्री में ऐसा पहली बार हुआ है जब एक मां के शरीर में मृत डोनर का गर्भाशय ट्रांसप्लांट किया गया और उस मां ने उसी गर्भाशय में 9 महीने तक बच्चे को पाला और फिर एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया।

मेडिकल जर्नल द लैंसेट में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक ब्राजील के साओ पालो में यह ऑपरेशन सितंबर 2016 में हुआ था जिसमें एक मृत महिला का गर्भाशय एक स्वस्थ महिला को लगाया गया और उसके बाद उस महिला ने दिसबंर 2017 में एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। दो साल पहले किए गए इस ऑपरेशन की जानकारी अब सामने आई है। रिपोर्ट प्रकाशित होते वक्त वह बच्ची 7 महीने और 12 दिन की थी और उसका वजन 7.2 किलोग्राम था।

कामयाब रही सर्जरी

इस मामले में गर्भाशय डोनेट करने वाली महिला 45 साल की थी जिसकी स्ट्रोक की वजह से मौत हो गई थी। वहीं गर्भाशय पाने वाली महिला 32 साल की थी और जन्म से ही उसके शरीर में यूटेरस यानी गर्भाशय नहीं था जो अपने आप में एक अजीब और रेयर बीमारी है। ट्रांसप्लांट से 4 महीने पहले उस महिला का आईवीएफ किया गया जिसके बाद उसके 8 एग्स फर्टिलाइज हुई जिन्हें फ्रीजिंग के जरिए प्रिजर्व किया गया। गर्भाशय ट्रांसप्लांट की सर्जरी करीब 10 घंटे तक चली। सर्जरी कर रहे डॉक्टरों ने डोनर के गर्भाशय की वेन्स, आर्टरी, लिगामेंट्स और वजाइनल कैनाल को प्राप्तकर्ता के शरीर से जोड़ा।

सात महीने बाद प्रेग्नेंट हुई महिला

गर्भाशय ट्रांसप्लांट के 7 महीने बाद फर्टिलाइज्ड एग्स को पाने वाली महिला के गर्भाशय में डाल दिया गया। 10 दिन बाद डॉक्टरों ने बताया कि महिला सफलतापूर्वक गर्भवती हो चुकी है। 9 महीने तक प्रेग्नेंसी नॉर्मल रही और करीब 36 सप्ताह बाद उस महिला ने सीजेरियन के जरिए एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया जिसका वजन ढाई किलो था। 3 दिन बाद मां और बच्ची दोनों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से