Home » रहन-सहन » फिटनेस फंडा » 5 उपाय हाइपरटेंशन भगाए

5 उपाय हाइपरटेंशन भगाए

DEC 07 , 2017

हाइपरटेंशन या हाइ ब्लड प्रेशर आज के दौर की बड़ी समस्या है। कई बार इसके पीछे के कारण आनुवंशिक होते है या कई बार यह तनाव, खराब खानपान, व्यायाम न करने और धूम्रपान की आदतों से भी हो सकता है। लगभग सभी की जीवनशैली अब खराब हो गई है। न खाने का समय होता है न सोने का। दिनचर्या इतनी व्यस्त है कि सुबह से कब शाम हुई पता ही नहीं चलता। इस वजह से भी रक्तचाप बढ़ जाता है जिसे हम आम बोलचाल की भाषा में हाइ बीपी कहते हैं। डॉक्टर इसे साइलेंट किलर कहते हैं। ब्लड का प्रेशर बढ़ने से कई तरह की दूसरी समस्याएं होती है। जैसे यदि ब्लड प्रेशर लगातार बढ़ा रहे तो यह हृदय पर असर डालता है। इसकी वजह से हार्ट अटैक भी हो सकता है। आंखों की रोशनी जासकती है। इसके लक्षण सामान्य तौर पकड़ नहीं आते। यही वजह है कि चिकित्सक सलाह देते हैं कि नियमित अंतराल पर ब्लड प्रेशर चेक कराते रहना चाहिए। कुछ बातों का खयाल रखा जाए तो परेशानी से बचा जा सकता है। इन पांच उपायों को अपना कर ब्लड प्रेशर सामान्य रखा जा सकता है।

तुलसी

तुलसी का जितना धार्मिक महत्व है, उतना ही यह स्वास्थ्य के लिए भी उपयोगी है। तुसली के पत्ते का नियमित उपयोग करने से बीपी नियंत्रण में रहता है। तुलसी की चाय फायदेमंद होती है। लेकिन तब जब इसमें चायपत्ती न मिलाई जाए। रोजमर्रा के खाने में तुलसी के पत्ते ऊपर से डाल कर भी खाए जा सकते हैं।

दालचीनी

दालचीनी भारतीय मसालों में उपयोग होती है। ज्यादातर इसका उपयोग खाने में भीनी-भीनी सी गंध बढ़ाने के लिए किया जाता है। दालचीनी में रक्तचाप नियंत्रण करने का गुण होता है। इससे डायबिटीज भी नियंत्रण में रहता है। चुटकीभर दालचीनी चाय, कॉफी, सब्जी किसी में भी डाल कर खाया जा सकता है।

इलायची

अगर आप नियमित रूप से इलायची खाएंगे तो आपको कुछ ही महीनों में फायदा दिखने लगेगा। यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में बहुत कारगर है। इलायची दाने वैसे भी खाए जा सकते हैं। इसे किसी दूसरी डिश में डाल कर खाने की उतनी जरूरत नहीं होती। फिर भी चाय में इलायची डाल कर पीने से फायदा होगा। सब्जी के तड़के में भी इलायची डाली जा सकती है।

अलसी

यह कई मसलों में रामबाण है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। यह ब्लडप्रेशर के साथ शरीर शुगर को भी नियंत्रित करता है। यह बहुत बढ़िया एंटीऑक्सीडेंट है। लहसन के साथ अलसी के बीज पीस कर चटनी बना सकते हैं। हल्का नमक डाल कर इसे रोज खाया जा सकता है। सौंफ की तरह भी अलसी के बीज खाने के बाद खाए जा सकते हैं।

लहसुन

लहसुन न सिर्फ रक्तचाप को ठीक रखता है बल्कि रक्त वाहिकाओं को सिकुड़ने नहीं देता। इससे ब्लड प्रेशर सामान्य बना रहता है। लहसुन के नियमित सेवन से अस्थमा होने का खतरा भी कम हो जाता है। रोज यदि लहसुन की कलियां खाई जाएं तो हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है। 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.