Home » रहन-सहन » फिटनेस फंडा » गर्मियों में कामकाजी महिलाओं के लिए टिप्स

गर्मियों में कामकाजी महिलाओं के लिए टिप्स

APR 26 , 2016

कामकाजी महिलाओं को गर्मियों में सोने से पहले अपने प्रदूषण, गंदगी, पसीने की बदबू और तैलीय पदार्थो को अपने अंगों से छुड़ाने के लिए रात में अपनी त्वचा को ताजे स्वच्छ पानी से धोना चाहिए।

 गर्मियों में तुलसी और नीम फेसवाश सबसे उपयुक्त है। इससे गंदगी निकल जाती है और त्वचा को फोड़े फुंसी, लाल चकत्तों आदि से छुटकारा मिलता है।

 त्वचा को साफ करने के बाद ठंडे गुलाब जल से त्वचा की रंगत निखारिये। उसमें न केवल त्वचा में ताजगी और शीतलता आती है बल्कि इससे त्वचा में रक्त संचार प्रवाह को नियमित होने में भी मदद मिलती है।

Advertisement

 गर्मियों के दौरान गर्म और आर्द्रता भरे मौसम में मैट माइस्चराईजर सबसे उपयुक्त माना जाता है। यदि आप बाहर सफर करती है तो सनस्क्रीन का उपयोग कीजिए। तैलीय त्वचा के लिए आयल फ्री सनस्क्रीन भी बाजार में उपलब्ध है।

गर्मियों में सप्ताह में दो तीन बार फेशियल स्क्रब का प्रयोग कीजिए। फेशियल स्क्रब से त्वचा में निर्जिव कोशिकाओं को हटाने में मदद मिलती है।

 त्वचा पर नरशिंग क्रीम लगाकर हल्के-हल्के चारों ओर गोलाकार स्वरूप में त्वचा की मालिश करें। जब आप ऊपर की ओर क्रीम लगा रही है तो ज्यादा दवाब महसूस होना चाहिए। मसाज के 3 या 4 मिनट के अंदर इसे ताजे साफ पानी से धो डालें।

गर्मियों में हफ्ते में दो बार फेस मास्क का उपयोग कीजिए। फेस मास्क को होठों तथा आंखों के पास के क्षेत्र को छोड़कर चेहरे पर लगाएं। जब यह शुष्क हो जाए तो इसे धो दिजिए।

अपन मेकअप में ताजगी लाने के लिए अपने हैंड बैग में कुछ सौदर्य सामग्री जरूर रखिए। गर्मियों में सुगंधित गीले टीशू काफी आराम देते हैं। यह बाजार में आसानी से उपलब्ध हैं। इन्हें त्वचा को साफ करने तथा पसीने की बदबू तथा मैल आदि की साफ करने में उपयोग में लाया जा सकता है।

सुगंधित पाऊडर भी लाभदायक एवं असरदायक माना जाता है। इससे गर्मियों में तैलीय आकृति से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। सबसे पहले त्वचा को टिशू से साफ कीजिए बाद में पाऊडर का उपयोग कीजिए। आपको दोपहर में लंच के बाद टच-अप के लिए लिपस्टिक की जरूरत पड़ेगी। गर्मियों में इतर की छोटी शीशी या अपना मनपसंद डियोडोरेंट साथ रखना न भूलें।

(लेखिका जानी-मानी सौंदर्य सलाहकार हैं।)


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.