There should be penalty for 'rapist rakshaks', govt trying to divert attention: Brinda Karat on POCSO ordinance : Outlook Hindi
Home » देश » सरकार के सदस्य रेपिस्ट को बचा रहे हैं, 'रेपिस्ट रक्षकों' के लिए भी हो सजा: वृंदा करात

सरकार के सदस्य रेपिस्ट को बचा रहे हैं, 'रेपिस्ट रक्षकों' के लिए भी हो सजा: वृंदा करात

APR 21 , 2018

बच्चियों से रेप के दोषियों को मौत की सजा देने पर सीपीएम नेता वृंदा करात ने कहा, 'सैद्धांतिक रूप से मैं मौत की सजा के खिलाफ हूं। मौत की सजा का प्रावधान तो पहले से ही 'रेयरिस्ट ऑफ दे रेयर' मामलों में है। असल में मुद्दा है कि सरकार के कुछ सदस्य रेपिस्ट को बचा रहे हैं और उन रेपिस्ट रक्षकों के खिलाफ सजा का प्रावधान किया जाना चाहिए।'

सीपीएम नेता और राज्यसभा सांसद वृंदा करात ने कहा कि मुद्दे को भटकाने के लिए सरकार इस अध्यादेश को लाने की कोशिश कर रही है। इसकी विश्वसनीयता को लेकर मुझे शक है। हम निश्चित सजा चाहते हैं। ये मुद्दा उन मुद्दों की बात नहीं कर रहा जो भारतीयों के दिमाग को उत्तेजित कर रहा है।  

गौरतलब है कि देश में नाबालिगों के साथ बढ़ती अपराध की घटनाओं के तहत शनिवार को केंद्रीय कैबिनेट ने प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेसेंस एक्ट (पॉक्सो) में संसोधन को मंजूरी दी गई तथा कानून में सख्त कदम उठाए जाने पर बल दिया गया। खासतौर पर 16 साल से कम उम्र की लड़कियों के साथ रेप के दोषी को सजा बढ़ाने का प्रावधान किया गया और 12 साल तक बच्चियों के दोषी को अधिकतम मौत की सजा देने का फैसला लिया गया। इस सजा में संसोधन के लिए अध्यादेश लाए जाने की मंजूरी दी गई।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.