Home देश राज्य अखिलेश यादव का योगी सरकार पर तंज, क्या जानवरों का भी होगा एनकांउटर

अखिलेश यादव का योगी सरकार पर तंज, क्या जानवरों का भी होगा एनकांउटर

आउटलुक टीम - FEB 18 , 2018
अखिलेश यादव का योगी सरकार पर तंज, क्या जानवरों का भी होगा एनकांउटर
अखिलेश यादव का योगी सरकार पर तंज, क्या जानवरों का भी होगा एनकांउटर
File Photo.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को लखनऊ में तेंदुआ की हत्या के मामले में प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर तंज कसा है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक ट्वीट किया और कहा- क्या जानवरों का भी होगा एनकाउंटर।

प्रदेश में चल रही पुलिस मुठभेड़ में अपराधियों के एनकाउंटर पर सवाल खड़े करने वाले समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ के आशियाना क्षेत्र में पुलिस की गोली से तेंदुए की मौत पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने ट्वीट किया है कि क्या प्रदेश में जानवरों का एनकाउंटर भी किया जाएगा।

अखिलेश ने कहा है कि कौन सा कानून कहता है कि जानवर को जान से मार दिया जाए। तेंदुए को बेहोश भी किया जा सकता था। क्या सरकार में जानवरों का भी एनकाउंटर का चलन शुरू हो गया है। यह तो गैर कानूनी है। इसके जिम्मेदार लोग बचने नहीं चाहिए। अखिलेश के इस ट्वीट पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। इसके साथ ही बड़ी संख्या में लोगों ने इसे शेयर व लाइक किया है।

लखनऊ के आशियाना के औरंगाबाद कॉलोनी में बीते तीन दिन से जिस तेंदुआ के खौफ में लोग जी रहे थे वह आखिरकार पुलिस की गोली गई का शिकार हो गया। तेंदुए को गोली लगने और पकड़े जाने के बाद इलाके के लोग पुलिस वालों की जयकार करने लगे, लेकिन यह खुशी ज्यादा देर तक नहीं रह पाई। तेंदुआ की गोली से मौत हो गई और उसके बाद वन विभाग ने इसके लिए सीधे-सीधे पुलिस महकमे को जिम्मेदार ठहरा दिया।

लखनऊ एसएसपी दीपक कुमार ने कहा की आदमखोर तेंदुआ ने कल लोगों पर हमला किया था। इंस्पेक्टर आशियाना त्रिलोकी सिंह को भी घायल किया। फायरिंग हुई इसमें आदमखोर तेंदुआ मारा गया। वहीं वन विभाग इस तेंदुआ को जिंदा पकडऩा चाहता था जबकि दो दिनों के मशक्कत के बाद भी तेंदुआ उनके हाथ नहीं आ रहा था।

फायरिंग में मारे जाने के बाद वन विभाग की टीम ने पुलिस पर सवाल उठाए और तेंदुआ को मारने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने की बात कही है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से