Home देश राज्य बंगाल में ओवैसी का नहीं चल रहा जादू, इस चुनावी रणनीतिकार ने किया खुलासा

बंगाल में ओवैसी का नहीं चल रहा जादू, इस चुनावी रणनीतिकार ने किया खुलासा

आउटलुक टीम - APR 11 , 2021
बंगाल में ओवैसी का नहीं चल रहा जादू, इस चुनावी रणनीतिकार ने किया खुलासा
बंगाल में ओवैसी का नहीं चल रहा जादू, इस चुनावी रणनीतिकार ने किया खुलासा
file photo
आउटलुक टीम

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में चौथे चरण का चुनाव खत्म हो चुका है। जिसके बाद राज्य में चार चरणों के चुनाव बचे हुए हैं। इस बार के चुनावों में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी अपनी किस्मत आजमा रही है। एआईएमआईएम पार्टी ने मालदा और मुर्शिदाबाद की कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। जिसे लेकर टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का बड़ा दावा सामने आया है। जिसमें वे कह रहे हैं कि इस बार बंगाल चुनाव में ओवैसी का जादू नहीं चल पा रहा है।

रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा है कि बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी के लिए असदुद्दीन ओवैसी कोई फैक्टर नहीं है। बंगाल में टीएमसी का आमना-सामना केवल भाजपा से है। इसके अलावा कोई कहीं फैक्टर नहीं है। पीके ने आगे कहा कि अगर किसी समुदाय के कुछ वोट डेंट भी करता है तो टीएमसी पर उसका कोई फर्क नहीं पड़ेगा। हमारे लिए समुदाय महत्वपूर्ण है और ममत बनर्जी के कामकाज से सभी लोग खुश हैं।

प्रशांत ने अपने बयान को दोहराते हुए कहा कि भाजपा बंगाल चुनाव में केवल 100 सीटों पर ही सिमट जाएगी। मैं अपने पुराने बयान पर कायम हूं और अगर भाजपा को 100 से ज्यादा सीटें मिली तो मैं रणनीति बनाने का काम छोड़ दूंगा। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा केवल जीत को हवा दे रही है।

प्रशांत किशोर  के लीक ऑडियो पर ओवैसी का हमला

बता दें कि हालही में  प्रशांत किशोर  के लीक ऑडियो को साझा करते हुए हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने ट्विटर पर लिखा था कि, ''मशहूर चुनावी रणनीतिकार यहां तथ्य रहित दिमाग से बोल रहे हैं। उन्होंने बहुसंख्यक सांप्रदायिकता को बंगाल में जड़ जमाने की अनुमति ममता ने कैसे दी, इस पर आत्ममंथन की बजाय वह विफलता के लिए मुसलमानों को बलि का बकरा बना रहे हैं।''

एक अन्य ट्वीट में औवैसी ने कहा, ''सच्चाई यह है कि टीएमसी और लेफ्ट के सबसे वफादार वोटर्स को दशकों तक अपमान के सिवा कुछ नहीं मिला। उनकी वफादारी के बदले ममता बनर्जी ने मुसलमानों को दूध देने वाली गाय मानती हैं। अब वह मुसलमानों से कह रही हैं कि वोट बंटने मत दो। यदि यहां तुष्टिकरण है तो यह मांग क्यों।''

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से