Home देश राज्य बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर समेत दो लोगों की मौत, जांच के लिए एसआईटी गठितः एडीजी लॉ एंड ऑर्डर

बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर समेत दो लोगों की मौत, जांच के लिए एसआईटी गठितः एडीजी लॉ एंड ऑर्डर

शशिकांत जायसवाल - DEC 03 , 2018
इस घटना में स्याना थाने के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत हो गई
बुलंदशहर हिंसा की जांच के लिए एसआईटी गठित, मामले में इंस्पेक्टर समेत दो की मौत
गुस्साई भीड़ ने पुलिस के कई वाहन फूंके, पुलिस चौकी में भी लगाई आग

सोमवार को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोहत्या की अफवाह के बाद हिंसा फैल गई। इस हिंसा में स्याना थाने के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह समेत दो लोगों की जान चली गई। इस दौरान भीड़ ने पथराव किया। पुलिस के कई वाहन फूंक दिए तथा चिंगरावठी पुलिस चौकी में आग लगा दी। तनाव को देखते हुए घटनास्थल पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। देर रात डीएम बुलंदशहर ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि इंस्पेक्टर की मौत गोली लगने से हुई है। गोली बांई आंख के पास खोपड़ी के अंदर चली गई थी।

सीएम ने दिए जांच के आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंस्पेक्टर की मौत पर गहरा दुख जताया है तथा दो दिन में  मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी और प्रभावितों को आर्थिक सहायता दिए जाने के बारे में निर्णय लिया जाएगा। साथ ही बुलंदशहर के प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के सख्त निर्देश भी दिए हैं।

एडीजी लॉ एंड आर्डर आनंद कुमार ने प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि आइजी मेरठ जोन के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई है जबकि इसकी मजिस्ट्रेटी जांच का आदेश भी हुआ है। उन्होंने कहा कि गांव के लोग जानवरों के अवशेष ट्रैक्टर ट्राली पर भरकर चौकी पर पहुंच गए। चौकी पर पुलिस के लोगों ने समझाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी। इसके बाद हिंसा शुरु हो गई है। ग्रामीणो की ओर से फायरिंग की गई तो जवाब में पुलिस ने भी हवाई फायरिंग की। इसी बीच कोई पत्थर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के सिर में लग गया। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनको मृत घोषित कर दिया गया।

दो अलग-अलग मामलों पर की जाएगी जांच

उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच शुरू हो गयी है। एसआईटी गठित कर दी गयी है। आईजी रेंज मेरठ इसके अध्यक्ष होंगे। एडीजी इंटेलीजेंस को भी जांच के लिए भेजा जा रहा है। जांच दो अलग अलग मामलों पर की जायेगी। पहली जानवर के अवशेष और ग्रामीणों के आक्रोश को लेकर और दूसरी जांच इंस्पेक्टर की मौत को लेकर की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में कुछ वीडियो सामने आये हैं। जिनमे से असामाजिक तत्वों को चिन्हित किया जा रहा है। सभी पहलुओं की जांच की जायेगी।

बुलंदशहर के स्याना थाने में हुयी यह घटना जिस स्थान पर हुयी वह जगह जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर है। यहां पर तीन गांव के करीब 350-400 लोगों ने पुलिस चौकी पर हमला करने के बाद कई  वाहनों को आग लगाई। एडीजी इंटेलिजेंस दो दिनों के अंदर इस बारे में रिपोर्ट वो पेश करेंगे। एसआईटी,अफवाह और बाद की हिंसा में जांच के लिए एसआईटी आईजी मेरठ रेंज की अगुवाई में गठित की गई है।

सूचना की जानकारी मिलने के बाद कई थानों की पुलिस और आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं और हालात को काबू में करने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

 

इज्तमा से लौट रहे वाहन भी फंसे

उधर, बुलंदशहर में इज्तमा से लौट रहे हजारों वाहन भी हिंसा के कारण फंस गए। भीड़ ने इज्तमा से लौट रहे युवकों से भी मारपीट की। फिलहाल ऐसे वाहनों का रूट डायवर्ट कर औरंगाबाद से जहांगीराबाद से निकाला जा रहा है। मौके पर एसएपी और आला अधिकारी भारी पुलिस फोर्स के साथ मौजूद हैं।

जिले में है तनावपूर्ण हालात

इस घटना के बाद जिले में स्थिति तनावपूर्ण है। मौके पर भारी पुलिस फोर्स भेजी जा रही है। आसपास के जिलों की फोर्स बुलंदशहर की ओर रवाना हो गई है। जिले में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से