Home » देश » राज्य » राजस्थान: यौन शोषण के आरोप में अब 'फलाहारी' महाराज गिरफ्तार

राजस्थान: यौन शोषण के आरोप में अब 'फलाहारी' महाराज गिरफ्तार

SEP 23 , 2017

यौन शोषण आरोप में फंसे राजस्थान के प्रसिद्ध संत कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य फलाहारी महाराज को अलवर पुलिस ने शनिवार को हिरासत में ले लिया है। फलाहारी महाराज पर 21 साल की लड़की ने यौनशोषण का आरोप लगाया है। 

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राजस्थान स्थित अलवर के फलाहारी बाबा उर्फ कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य महाराज को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की एक लड़की ने उसके खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज की थी। कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य निजी अस्पताल से सरकारी अस्पताल में शिफ्ट किया गया है।

पुलिस ने शनिवार को यौन शोषण मामले में फलाहारी बाबा को एसीजेएम की कोर्ट नंबर तीन पर पेश किया, जहां प्रवीण मिश्रा की बेंच ने उन्हें15 दिनों के न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। बाबा को अब छह अक्टूबर को फिर से पेश किया जाएगा।

Advertisement


 जांच के लिए अलवर गई थी छत्तीसगढ़ पुलिस

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली लड़की ने फलाहारी महाराज के खिलाफ बिलासपुर के महिला थाने में यौन शोषण का मामला दर्ज कराया था। पीड़िता की शिकायत के बाद ही छत्तीसगढ़ पुलिस ने फलाहारी महाराज के खिलाफ कथित यौन शोषण का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

इस मामले में जांच की जानकारी देते हुए अलवर के एसपी राहुल प्रकाश ने बताया था कि फलाहारी बाबा के खिलाफ एक लड़की ने बिलासपुर के महिला थाने में यौन शोषण का मामला दर्ज कराया है। इस सिलसिले में छत्तीसगढ़ पुलिस जांच के लिए अलवर आई है।

पीड़िता के आरोपों के बाद घबराकर हॉस्पिटल में भर्ती हो गया फलाहारी बाबा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़िता की शिकायत के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस मामले की जांच के लिए अलवर रवाना हुई। पुलिस के अलवर पहुंचने की खबर मिलते ही बाबा घबरा गया और एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती हो गया। छत्तीसगढ़ पुलिस पहले तो अलवर के काला कुआं स्थित बाबा के आश्रम में पहुंची, फिर उसे तलाशते हुए हॉस्पिटल पर आ गई। अलवर पुलिस ने शनिवार को फलाहारी बाबा के खिलाफ ताजा कार्रवाई करते हुए, उसे निजी अस्पताल से सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। 

लॉ की पढ़ाई पूरी कर खुशी शेयर करने आश्रम गई थी लड़की

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता के परिवार के बाबा से करीब 25 साल पुराने फैमिली रिलेशन हैं। लड़की ने पिछले दिनों लॉ की पढ़ाई के बाद इंटर्नशिप पूरा किया। इसके लिए उसे 5 हजार रुपए मिले। वह पैसे मिलने को लेकर काफी खुश थी और 7 अगस्त को वह बाबा के अलवर आश्रम पर पहुंची। यहां शाम को 7 बजे बाबा ने लड़की को मंदिर के बेसमेंट में बने कमरे में ठहराया। बाबा ने यहां मौजूद लोगों को आरती में शामिल होने के लिए भेज दिया, जिसके बाद उसने लड़की के साथ दुष्कर्म जैसे घिनौनी घटना को अंजाम दिया।

पीड़िता ने बिलासपुर महिला थाने में दर्ज किया था यौन शोषण का मामला 

इस घटना के बाद लड़की दिल्ली में रह रहे अपने भाई के पास पहुंची और उसे घटना की जानकारी दी। इसके बाद दोनों भाई-बहन बिलासपुर पहुंचे और अपने माता-पिता को बाबा की करतूतों के बारे में बताया। लड़की की शिकायत के बाद बाबा के खिलाफ बिलासपुर महिला थाने में रेप का मामला दर्ज किया गया। जिसके बाद हरकत में आई छत्तीसगढ़ पुलिस ने लड़की के कपड़ों को एफएसएल जांच के लिए अपने साथ अलवर ले गई।  

 कई सौ एकड़ में फैला है फलाहारी बाबा का अलवर आश्रम

बता दें कि वैसे तो राजस्थान के प्रसिद्ध संत का नाम जगदगुरू रामानुजाचार्य स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी है, लेकिन ये सिर्फ फलाहार पर ही जिंदा हैं इसलिए भक्तों के बीच ये फलाहारी बाबा ही पुकारे जाते हैं। फलाहारी बाबा का अलवर में कई सौ एकड़ में आश्रम फैला है। इस बाबा का 'दिव्य आश्रम' के नाम से स्कूल और राजस्थान में कई धर्मशाला भी हैं। फलाहारी बाबा के देश-विदेश में लाखों अनुयायी हैं।

 बाबा पर यौन शोषण का जो आरोप लगा है, वो कभी सामने नहीं आ पाता, लेकिन लड़की का कहना है कि राम रहीम की हालत देखकर उसे हौसला मिला।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.