Home » देश » राज्य » दशहरा कार्यक्रम के आयोजक ने जारी किया वीडियो, कहा- मुझे बदनाम करने की साजिश

दशहरा कार्यक्रम के आयोजक ने जारी किया वीडियो, कहा- मुझे बदनाम करने की साजिश

OCT 22 , 2018

पंजाब के अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास दशहरा कार्यक्रम के दौरान हादसे के मामले में नया मोड़ आया है। दशहरा कार्यक्रम और रावण के पुतला के दहन का आयोजन करने वाले सौरभ मदान उर्फ मिट्ठू मदान सोमवार को सामने आया और पूरी घटना पर रोते हुए सफाई दी। उसने एक वीडियो जारी कर कहा है, ‘यह तो कुदरत का कहर था। इसमें हमारा क्‍या दोष है। इस कार्यक्रम के लिए प्रशासन और पुलिस से अनुमति ली गई थी। इसके साथ ही कार्यक्रम के लिए पूरी व्‍यवस्‍था की गई थी।‘ उसने पूरे मामले में कुछ शरारती तत्‍वों पर साजिश करने का भी आरोप लगाया है। उसने कहा कि मुझे बदनाम करने की साजिश हो रही है।

यह कुदरत का कहर, हमारी क्या गलती: मदान

सौरभ मदान ने कहा, ‘जोड़ा रेल फाटक पर जो घटना हुई वह बेहद दुखद और कभी न भुलाया जा सकने वाली त्रासदी है। इस हादसे से मेरा और मेरे परिवार के लोगों का रोम-रोम दुखी है। जो हालत बन गए हैं उससे दिल बहुत दुख रहा है। मैं बता नहीं सकता मेरी क्‍या हालात है। हमने यह दशहरा सभी लोगों को इकट्ठा करने के लिए किया था। कार्यक्रम के लिए कोई कमी नहीं छोड़ी।‘

सौरभ मदान ने वीडियो में कहा है, ‘हमने दशहरा कार्यक्रम और रावण दहन का आयोजन मैदान में किया था, न कि रेलवे ट्रैक पर। कार्यक्रम आयोजन का मतलब होता है कि जहां सारी व्‍यवस्‍था की गई हो और कुर्सियां आदि लगाई गई हों। रेलवे ट्रैक पर ऐसी कोई व्‍यवस्‍था नहीं की गई थी। कार्यक्रम का आयोजन मैदान में बाउंड्री के अंदर हो रहा था।

सौरभ मदान ने कहा, ‘कार्यकम चल रहा था और दशहरा कार्यक्रम लोग देख रहे थे। जिस मैदान में कार्यक्रम हो रहा था, उसमें करीब 8-10 फीट ऊंची बाउंड्री भी है, लेकिन लोग रेलवे ट्रैक पर भी खड़े थे। इसी दौरान ट्रेन आ गई और यह हादसा हाे गया। यह कुदरत का कहर था और इसमें हमारी क्‍या गलती थी। हमने करीब 10 बार घोषणा कर लोगों को रेलवे लाइन से हटने को कहा गया था। हमने कार्यक्रम के दौरान सारी संभव व्‍यवस्‍था की, लेकिन कुछ शरारती तत्‍वों ने साजिश की।‘

पहले दशहरा कमेटी ने दो पत्र जारी किए थे

इससे पहले इस भीषण हादसे में दशहरा कमेटी ने दो पत्र जारी किए थे। पहले पत्र में कमेटी ने पुलिस से सुरक्षा-व्यवस्था की मांग की थी। दूसरा पत्र पुलिस ने आयोजन कमेटी को लिखा, जिसमें दशहरा कार्यक्रम आयोजित करने की मंजूरी दी गई है लेकिन कुछ शर्तो के साथ। पर, आयोजकों ने इन शर्तो का पालन नहीं किया। असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर दलजीत सिंह ने दशहरा कमेटी को दिए जवाब में कहा था कि पुलिस को दशहरा कार्यक्रम आयोजित करने को लेकर कोई आपत्ति नहीं हैं।

हमने की थी सुरक्षा की मांग: आयोजक

कांग्रेस पार्षद विजय मदान के बेटे व आयोजक सौरभ मदान ने कहा कि हमने 19 अक्टूबर के आयोजन के लिए पुलिस से अनुमति ली थी। हमने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी डाक्टर नवजोत कौर सिद्धू के बतौर मुख्य अतिथि आने की जानकारी भी दी थी। इसके लिए सुरक्षा की मांग की थी।



अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.