Home » देश » राज्य » नीतीश-अमित शाह के डायनिंग टेबल पर सीटों के बंटवारे की डिश

नीतीश-अमित शाह के डायनिंग टेबल पर सीटों के बंटवारे की डिश

JUL 12 , 2018

राजनीतिक टेबल पर जब मसले हल करना कठिन हो जाता है तो पार्टियां डायनिंग टेबल का सहारा लेती है। ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर आयोजित किए जाते हैं। कई तरह के संदेश देने की कोशिश होती है। बातचीत के जरिए मतभेदों को सुलझाने का यह सांकेतिक तरीका है।

पिछले लंबे समय से कयास लग रहे हैं कि बिहार एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर सब कुछ ठीक नहीं है। इसकी शुरुआत तब हुई थी जब जेडीयू ने नीतीश को बिहार में लोकसभा चुनाव का चेहरा घोषित किया। इसके बाद जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में फैसला हुआ कि चार राज्यों के आगामी विधानसभा चुनाव में चुनिंदा सीटों पर जेडीयू अकेले चुनाव लड़ेगी। सीटों के बंटवारे को लेकर नीतीश कुमार ने कहा था कि भाजपा की तरफ से अभी ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है। उन्होंने चेतावनी भी दी थी कि जेडीयू को कई दल दरकिनार नहीं कर सकता।

अमित शाह अपने डैमेज कंट्रोल के लिए जाने जाते हैं। 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारियों में वह पूरी तरह जुटे हुए हैं। उन्होंने शिव सेना से लेकर अकाली दल तक अपने सहयोगियों से मुलाकात की है। वह नहीं चाहते कि एनडीए में अनबन की किसी तरह की बातों को बल मिले। लिहाजा, बात एक बार फिर डायनिंग टेबल पर पहुंची।

एनडीए गठबंधन को मिलेंगी बिहार की सभी 40 सीटें: शाह

गुरुवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने नाश्ता किया। साथ ही करीब 45 मिनट तक बातचीत की। पटना में हुई इस मुलाकात के बाद एक सभा को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि बिहार में बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन अटूट है और आने वाले वक्त में दोनों पार्टियां एक साथ चुनाव लड़ेंगी। शाह ने यह भी दावा किया कि 2019 के चुनाव में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन को बिहार की सभी 40 सीट पर विजय भी मिलेगी।

अमित शाह ने साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात तो कही है लेकिन सीटों के बंटवारे को लेकर अभी भी रोडमैप स्पष्ट नहीं है।

बिहार में ज्ञान भवन में अपनी सभा के दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि 2019 के चुनाव में बीजेपी गठबंधन को पू्र्ण बहुमत के साथ सरकार बनानी है और इसके लिए कार्यकर्ताओं को पूरी लगन से काम करना होगा। शाह ने कहा कि बिहार में महागठबंधन को हार का सामना करना होगा और एनडीए को सभी 40 सीटों पर विजय मिलेगी।

जनता कांग्रेस से मांग रही 4 पीढ़ी का हिसाब

शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल बाबा आजकल बीजेपी से सवाल पूछ रहे हैं लेकिन राहुल बाबा आपको सवाल पूछने का अधिकार नहीं है और जनता आपसे 4 पीढ़ियों का जवाब मांग रही है। जनता जानना चाहती है कि 55 साल के शासन में आपने देश के लिए क्या किया। शाह ने कहा कि कांग्रेस की सरकार के वक्त आतंकी हमले होते थे और हमारी सरकार में भारतीय सैनिकों ने भारत माता की जय के नारे के साथ आतंकियों के घर में घुसकर उन्हें नेस्तनाबूत किया।

'जनता को जवाब देना हमारा फर्ज है'

शाह ने कहा कि देश की जनता ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सरकार को जवाब दिया और हमारा फर्ज है कि उन्हें जवाब देना चाहिए। बिहार ने हमें जनादेश दिया है और हम यहां के लोगों को जवाब देने आए हैं। राहुल बाबा सुन लें हम जनता को चार पीढ़ी का जवाब देने आए हैं और वह इसकी तुलना अपनी पार्टी के चार पीढ़ी के शासन के साथ कर लें।

फिलहाल देखना यह है कि अमित शाह की ये डायनिंग टेबल पॉलिटिक्स कितना रंग दिखाती है। सीटों की डिश का कितना बंटवारा होता है। यह डिश कितनी स्वादिष्ट या फीकी निकलेगी, यह तो वक्त ही बताएगा।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.