Home देश राज्य यूपी आने वाले एक लाख लोगों को किया जाएगा होम क्वारंटाइन, 14 दिनों तक घर में रहेंगे बंद

यूपी आने वाले एक लाख लोगों को किया जाएगा होम क्वारंटाइन, 14 दिनों तक घर में रहेंगे बंद

आउटलुक टीम - MAR 29 , 2020
यूपी आने वाले एक लाख लोगों को किया जाएगा होम क्वारंटाइन, 14 दिनों तक घर में रहेंगे बंद
यूपी आने वाले एक लाख लोगों को किया जाएगा होम क्वारंटाइन, कोरोना के 1,000 से ज्यादा मामले, 26 मौत
PTI
आउटलुक टीम

कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन होने के बावजूद भी प्रवासी श्रमिक गांव जा रहे हैं। इस बाबत उत्तर प्रदेश सरकार ने पिछले कुछ दिनों में राज्य में आए लगभग एक लाख लोगों को होम क्वारंटाइन करने का फैसला किया है। सरकार की तरफ से रविवार को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिया गया है। राज्य में अब तक इस वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 72 हो गई है जबकि दिल्ली में भी 72 मामले सामने आ चुके हैं। 

बता दें, चीन के वुहान से निकला कोरोना वायरस अब पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है। रविवार तक पूरी दुनिया में 32 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी है। जबकि इसके साढ़े 6 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके है। वहीं,भारत में अब तक एक हजार से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए हैं। जबकि 26 लोगों की मौत हो चुकी है।

14 दिनों के लिए किया जाएगा होम क्वारंटाइन

राज्य के चिकित्सा और स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि राज्य में पहुंचने वाले सभी लोगों को 14 दिनों की अवधि के लिए होम क्वारंटाइन किया गया है। पूरे मामले पर सामुदायिक निगरानी और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी नजर बनाए हुए हैं। राज्य सरकार के अनुसार पिछले तीन दिनों में एक लाख लोग दूसरे राज्यों से यूपी आए हैं। अधिकारी के मुताबिक सभी के नाम, पते और फोन नंबर जिला मजिस्ट्रेटों को उपलब्ध कराए गए हैं और उनकी निगरानी की जा रही है।

सभी जरूरतों को किया जाएगा पूरा

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि इन सभी लोगों को होम क्वारंटाइन में रखने के निर्देश जारी किए गए हैं। साथ ही उनके भोजन और अन्य दैनिक जरूरतों को राज्य सरकार मुहैय्या कराएगी। इससे इतर पिछले 3 दिन से हजारों की संख्या में लोगों के लिए घर पहुंचने की आस बने आनंद विहार बस स्टैंड को पूरी तरह से खाली करा दिया गया है। 

सरकार ने राज्यों को जारी की एडवाइजरी

इससे पहले केंद्र ने राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों से राज्य और जिला की सीमाओं पर प्रवासी श्रमिकों की आवाजाही को प्रभावी ढंग से रोकने के लिए कहा। साथ ही केंद्र ने चेतावनी दी कि लॉकडाउन के उल्लंघन करने वालों को 14 दिन के लिए क्वारनटीन में भेजा जाएगा।मुख्य सचिवों और डीजीपी के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कैबिनेट सचिव राजीव गौबा और केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि शहरों में या राजमार्गों पर लोगों की कोई आवाजाही न हो क्योंकि लॉकडाउन जारी है।

जारी है आवाजाही

सरकार की तरफ से एक आधिकारिक बयान में कहा गया, "देश के कुछ हिस्सों में प्रवासी श्रमिकों की आवाजाही हुई है। निर्देश जारी किए गए थे कि जिला और राज्य की सीमाओं को प्रभावी रूप से सील किया जाना चाहिए।" राज्यों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया कि शहरों या राजमार्गों पर लोगों की आवाजाही न हो और लॉकडाउन का कड़ाई से कार्यान्वयन हो। केवल माल की आवाजाही की अनुमति दी जानी चाहिए।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से