Home देश राज्य नीतीश अगर एनडीए का साथ छोड़ें तो महागठबंधन में आ सकते हैं: कांग्रेस

नीतीश अगर एनडीए का साथ छोड़ें तो महागठबंधन में आ सकते हैं: कांग्रेस

आउटलुक टीम - JUN 18 , 2018
नीतीश अगर एनडीए का साथ छोड़ें तो महागठबंधन में आ सकते हैं: कांग्रेस
नीतीश अगर एनडीए का साथ छोड़ें तो महागठबंधन में आ सकते हैं: कांग्रेस
नीतीश कुमार (बाएं), शक्ति सिंह गोहिल (दाएं)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर कांग्रेस सकारात्मक रवैया दिखा रही है। पीटीआई के मुताबिक, कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा है कि अगर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा का साथ छोड़ने का फैसला करते हैं तो उन्हें महागठबंधन में वापस लेने के लिए वह सहयोगी दलों के साथ विचार करेगी। कांग्रेस का यह बयान उस वक्त आया है जब हाल के दिनों में अगले लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर जदयू और भाजपा के बीच कुछ अनबन की स्थिति की खबरें आईं।

कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने रामविलास पासवान और उपेंद्र कुशवाहा का जिक्र करते हुए यह दावा भी किया कि बिहार में यह आम धारणा बन चुकी है कि नरेंद्र मोदी सरकार 'पिछड़े और अतिपिछड़े वर्गों के खिलाफ' है। ऐसे में पिछड़ों और अतिपिछड़ों की राजनीति करने वालों के पास भाजपा का साथ छोड़ने के सिवाय कोई दूसरा विकल्प नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर बनने वाले गठबंधन का नेतृत्व स्वाभाविक रूप से कांग्रेस के पास होगा और अगले लोकसभा चुनाव में देश की जनता राहुल गांधी के नेतृत्व में नरेंद्र मोदी को हराएगी।

उन्होंने कहा, 'पासवान जी और कुशवाहा जी पिछड़ों और अतिपिछड़ों की राजनीति करते हैं। लोग उनसे पूछेंगे कि ऊना में दलितों पर अत्याचार होता है और भाजपा का एक नेता कहता है कि दलितों को पीटना चाहिए लेकिन इस पर मोदी क्यों कुछ नहीं बोलते हैं। इनको जवाब देना पड़ेगा।' भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर बनने महागठबंधन को राष्ट्रहित की जरूरत करार देते हुए गोहिल ने कहा कि इसमें स्वाभाविक रूप से कांग्रेस का नेतृत्व होगा। कुछ दिनों पहले राजद नेता तेजस्वी यादव ने रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा से एनडीए छोड़ने की अपील की थी।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से