Home देश राज्य स्तनपान कराती महिला के मैगजीन कवर पर कोर्ट को ऐतराज नहीं

स्तनपान कराती महिला के मैगजीन कवर पर कोर्ट को ऐतराज नहीं

आउटलुक टीम - JUN 22 , 2018
स्तनपान कराती महिला के मैगजीन कवर पर कोर्ट को ऐतराज नहीं
स्तनपान कराती महिला के मैगजीन कवर पर कोर्ट को ऐतराज नहीं
twitter

मलयालम पत्रिका 'गृहलक्ष्मी' के कवर पेज पर छपी स्तनपान कराते हुए महिला की फोटो को लेकर हाल ही में काफी विवाद पैदा हो गया। इस मामले को लेकर शुरू हुआ विवाद केरल हाईकोर्ट तक जा पहुंचा, जहां कोर्ट ने इस पत्रिका के खिलाफ दायर याचिका को सिरे से खारिज कर दिया।

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, कवर पेज पर एक मॉडल के स्तनपान की तस्वीर छापने को लेकर मलयालम पत्रिका 'गृहलक्ष्मी' के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर कर कार्रवाई करने की मांग की गई थी। जिस पर फैसला सुनाते हुए गुरुवार को कोर्ट ने कहा कि कवर पेज पर छपी स्तनपान कराती फोटों में कुछ भी ऐसा नहीं है, जिस पर आपत्ति जताई जाए। कोर्ट ने कहा कि अश्लीलता देखने वालों की आंखों में होती है।

कवर पेज पर छापी थी ब्रेस्टफीडिंग की तस्वीर

गृहलक्ष्मी पत्रिका ने अपनी कवर पेज पर ब्रेस्टफीडिंग की तस्वीर छापी थी। मलयालम की मशहूर अभिनेत्री गिलू जोजफ को ब्रेस्टफीडिंग कराते हुए दिखाया गया था। पत्रिका ने तस्वीर के साथ पंच लाइन दी थी- 'माताएं केरल को कह दो ना घूरे, हमारा ब्रेस्टफीड कराना जरूरी है।'

फोटो के छपने के बाद शुरू हुआ विवाद

इस फोटो के छपने के बाद विवाद शुरू हो गया। किसी ने इस तस्वीर को कामुकता बढ़ाने वाला तो किसी ने धार्मिक-सांप्रदायिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला करार दिया। वकील विनोद मैथ्यू विल्सन ने इस तस्वीर के खिलाफ याचिका दायर की और कहा कि तस्वीर कामुकता वाली है और महिला की गरिमा को नीचा दिखाती है।

केरल हाई कोर्ट ने सभी आरोपों को किया खारिज

अब केरल हाई कोर्ट ने इन सारे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि भारतीय संस्कृति में हमेशा से मनुष्य के शरीर को खूबसूरती से दर्शाया गया है। कोर्ट ने कहा कि जिस तरह सुंदरता देखने वालों की आंखों में होती है उसी तरह से अश्लीलता भी देखने वाले के नजर में है।

हमें तस्वीर में कुछ भी अश्लील नहीं लग रहा: कोर्ट

कोर्ट ने कहा कि एक व्यक्ति के लिए जो चीज अभद्रता है वही दूसरे के लिए काव्यात्मक है। न्यायमूर्ति एंटनी डोमिनिक और न्यायमूर्ति दामा शेषाद्रि नायडू की पीठ ने अपने आदेश में कहा, हमें तस्वीर में कुछ भी अश्लील नहीं लग रहा है, न ही इसके कैप्शन में कुछ आपत्तिजनक है। हम तस्वीर को उन्हीं नजरों से देख रहे हैं जिन नजरों से हम राजा रवि वर्मा जैसे कलाकारों की पेंटिंग्स को देखते हैं।

मार्च 2018 के एडिशन में छपी है ये तस्वीर

गौरतलब है कि गृहलक्ष्मी मैगजीन के मार्च 2018 के एडिशन में मलयालम एक्ट्रेस गिलु जोसेफ को स्तनपान कराते हुए दिखाया गया था, जिसे लेकर विवाद शुरू हो गया।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से