Home » देश » राज्य » गोरखपुर: बीआरडी अस्पताल पहुंचे CM योगी, मृतकों की संख्या 79 तक पहुंची

गोरखपुर: बीआरडी अस्पताल पहुंचे CM योगी, मृतकों की संख्या 79 तक पहुंची

AUG 13 , 2017

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आज दिमागी बुखार से एक और 4 साल के बच्चे की मौत हो गई। अभी तक मृत बच्चों का आंकड़ा साफ नहीं हो पाया है। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि यहां मृत बच्चों की संख्या 79 हो गई है। यह संख्या कल तक 63 थी। जबकि सरकार की ओर से 30 बच्चों के मरने की पुष्टि की गई है।


इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री नड्डा गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल पहुंच गए हैं।

Advertisement

इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी पूरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ है जिन्होंने अपने बच्चे खोए हैं।

साथ ही उनका कहना था कि बच्चे ऑक्सीजन की वजह से नहीं बल्कि गंदगी और बीमारियों से मरे हैं। वहीं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं।

प्रिंसिपल निलंबित, दिया इस्तीफा

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ राजीव मिश्रा को निलंबित कर दिया गया। वहीं अब उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल के पद से मिश्रा के इस्तीफे की पुष्टि करते हुए कहा, "हां, उन्होंने इस्तीफा दे दिया है, लेकिन कोई अच्छा नहीं, क्योंकि हम पहले ही उसे निलंबित कर चुके हैं और उसके अपराधों की जांच शुरू कर चुके हैं।"

चिकित्सा शिक्षा और प्रशिक्षण महानिदेशक को लिखे पत्र में  प्रिंसिपल ने कहा कि उन्होंने अस्पताल के बाल चिकित्सा वार्ड में भर्ती 30 बच्चों की मौत के लिए नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इससे पहले प्रिंसिपल मिश्रा को ऑक्सीजन सिलेंडर के आपूर्तिकर्ता को भुगतान में देरी करने के लिए निलंबित कर दिया गया था।

क्या है मामला?

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पिछले 7 दिनों में कथित तौर पर 79 बच्चों की मौत हो चुकी है। ऑक्सीजन की कमी को बच्चों की मौत की वजह बताया जा रहा है, हालांकि उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने इससे साफ इनकार किया है। गोरखपुर के जिलाधिकार भी बच्चों की मौत की सही वजह बताने की स्थिति में नहीं हैं। उन्हें जांच रिपोर्ट का इंतजार है। अस्पताल प्रशासन ऑक्सीजन की वजह से बच्चों की मौत के दावे को पहलेे ही खारिज कर चुका है।

इधर, दिल्ली में शुक्रवार को गृह मंत्रालय के प्रवक्ताने बताया कि गोरखपुर के पुलिस अधीक्षक से मिली जानकारी के अनुसार, "लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई में कमी की वजह से पिछले 36 घंटों में 21 बच्चों की मौत हुई है। वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं और स्थानीय प्रशासन के जरिए मौतों की सही वजह की पुष्टि की जा रही है।"


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.