Home देश राज्य जम्मू-कश्मीर के पूर्व उप-राज्यपाल जीसी मुर्मू बनाए गए नए सीएजी, राजीव महर्षि की जगह लेंगे

जम्मू-कश्मीर के पूर्व उप-राज्यपाल जीसी मुर्मू बनाए गए नए सीएजी, राजीव महर्षि की जगह लेंगे

आउटलुक टीम - AUG 07 , 2020
जम्मू-कश्मीर के पूर्व उप-राज्यपाल जीसी मुर्मू बनाए गए नए सीएजी, राजीव महर्षि की जगह लेंगे
जम्मू-कश्मीर के पूर्व उप-राज्यपाल जीसी मुर्मू बनाए गए नए सीएजी, राजीव महर्षि की जगह लेंगे
पीटीआइ
आउटलुक टीम

जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल पद से एक दिन पहले इस्तीफा देने वाले जीसी मुर्मू को देश का नया ऑडिटर जनरल बनाया गया है। वह राजीव महर्षि की जगह लेंगे। राजीव महर्षि को साल 2017 में सीएजी नियुक्त किया गया था। उनका कार्यकाल तीन साल का रहा, जो 7 अगस्त को खत्म होने वाला है। केंद्र की मोदी सरकार ने गुरुवार को इसकी अधिसूचना जारी की।

बता दें कि जीसी मुर्मू ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद मनोज सिन्हा को उनकी जगह पर अगला उप-राज्यपाल नियुक्त किया गया। गिरीश चंद्र मुर्मू शनिवार को राष्ट्रपति भवन में भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक के रूप में शपथ लेंगे।

मुर्मू 1985 बैच के गुजरात कैडर के आईएएस अफसर रहे हैं। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद अफसरों में माने जाते हैं। गुजरात में मोदी के मुख्यमंत्री रहने के दौरान वह उनके प्रमुख सचिव थे। एक मार्च 2019 से वह वित्त मंत्रालय में व्यय सचिव की जिम्मेदारी देख रहे थे। उन्होंने जम्मू कश्मीर के आखिरी राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बाद उप-राज्यपाल की जगह ली थी। 1985 बैच के गुजरात कैडर के आईएएस ऑफिसर जीसी मुर्मू उस वक्त प्रिसिंपल सेक्रेटरी थे जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

ये भी पढ़ें- जीसी मुर्मू के इस्तीफे के बाद जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल बने मनोज सिन्हा

मुर्मू ने इस्तीफा उस दिन दिया जब जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छे-370 और आर्टिकल 35ए को खत्म किए हुए एक साल पूरा हुआ। पिछले साल 5 अगस्त के दिन ही जम्मू-कश्मीर को दिए जाने वाले विशेष दर्जा को खत्म किया गया था। इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो अलग हिस्सों मे बांटकर उसे केन्द्र शासित प्रदेश बना दिया गया था।

बता दें कि मुर्मू ने 31 अक्टूबर 2019 को उप राज्यपाल पद की शपथ ली थी। मुर्मू के शासनकाल में कश्मीर शांति, स्थिरता और विकास की ओर तेजी से बढ़ा है। राज्य में आतंकवाद या पत्थरबाजी की घटनाओं में भारी कमी आई है।

रिटायर हो रहे हैं राजीव महर्षि

राजस्थान कैडर के वर्ष 1978 के बैच के आईएएस अधिकारी राजीव महर्षि गृह सचिव के पद पर रह चुके हैं। उन्हें साल 2017 में सीएजी नियुक्त किया गया था। उन्होंने शशिकांत शर्मा का स्थान लिया था। राजीव महर्षि का कार्यकाल करीब तीन वर्ष का रहा। कैग की नियुक्ति छह वर्ष के लिए होती है या तब तक के लिए होती है जब तक इस पर बैठा व्यक्ति 65 वर्ष का नहीं हो जाता। राजीव महर्षि 8 अगस्त को 65 साल के हो जाएंगे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से