Home देश राज्य मुजफ्फरनगर में चौधरी अजित सिंह और संजीव बालियान की लड़ाई, जानिए कौन कितना भारी

मुजफ्फरनगर में चौधरी अजित सिंह और संजीव बालियान की लड़ाई, जानिए कौन कितना भारी

आउटलुक टीम - APR 11 , 2019
मुजफ्फरनगर में चौधरी अजित सिंह और संजीव बालियान की लड़ाई, जानिए कौन कितना भारी
मुजफ्फरनगर में अजीत और बालियान की लड़ाई, जानिए आज किसी खुली किस्मत
आउटलुक टीम

हरियाणा से सटी मुजफ्फरनगर सीट पर दो दिग्गज जाटों के बीच मुकाबला है, इस बार संजीव बालियान के सामने चौधरी अजित सिंह खड़े हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में यहां से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संजीव बालियान ने जीत दर्ज की थी, लेकिन सपा-बसपा-रालोद का महागठबंधन होने के कारण इस बार लड़ाई जातीय समीकरण में उलझ गई है। आज हुए मतदान में यह समीकरण साफ तौर पर दिखा।

शहरों के बजाए गांव के मतदान केंद्रों पर ज्यादा भीड़ रही है, मुस्लिम इलाकों में खासकर के महिलाओं की भीड़ ज्यादा थी। दोनों ही जाट उम्मीदवार हैं, इसके बावजूद महागठबंधन होने के कारण मतदाताओं में जातीय समीकरण के आधार पर वोटिंग ज्यादा हुई है। मुस्लिम बहुल इलाके के खालापार में रहने वाले शहजाद ने बताया कि हमारे यहां पर 80 फीसदी वोटिंग हुई है, हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि उन्होंने वोट किसको दिया है। उन्होंने बताया कि इस बार मतदान में महिलाओं ने ज्यादा भाग लिया है, तथा सुबह से महिलाओं की लाईन लगी रही है।

गांव में ज्यादा हुई है वोटिंग

लछेड़ा गांव के आदीप खाटियान ने बताया कि हमारे गांव से 70 से 75 फीसदी वोटिंग हुई है तथा महागठबंधन का जोर है। उन्होंने बताया कि हमने काम करने वाले को वोट दिया है, साथ ही उन्होंने बताया कि इस बार के चुनाव में युवा मतदाओं में वोट डालने का ज्यादा जोर था है। मुजफ्फरनगर की जाट कालोनी के छोटू राम इंटर कालेज में बने बूथ पर 10 बजे के बाद भीड़ कम हो गई थी, तथा दोपहर में तो एकाध वोटर ही वोटिंग करने आ रहा था। मंदौड़ गांव के रोहित पंवार ने बताया कि हमारे यहां 60-40 का मुकाबला है, हालांकि उन्होंने यह बताने से मना कर दिया, कि 60 फीसदी में कौन है। उन्होंने बताया कि यहां पर वोटरों ने काम करने वाले उम्मीदवार को तरजीह दी है।

मुजफ्फरनगर सीट पर करीब 16 लाख हैं मतदाता

मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट पर करीब 16 लाख मतदाता हैं, इनमें 8,75,186 पुरुष और 7,13,297 महिला वोटर हैं। आज हुए मतदान में पांच बजे तक 62 फीसदी हो चुका है तथा 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर 69.7 फीसदी वोट पड़े थे तथा 2014 में इस सीट पर नोटा को 4,739 वोट गए थे। इस सीट पर 27 फीसदी मुस्लिम वोटर मौजूद हैं। मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट के तहत कुल पांच विधानसभाएं आती हैं। इनमें बुढ़ाना, चरथावल, मुजफ्फरनगर, खतौली और सरधना सीट हैं। ये पांचों ही सीटें भारतीय जनता पार्टी के खाते में हैं।

पिछले बार संजीव बालियान ने जीत दर्ज की थी

इस बार अजित सिंह ने अपनी पारंपरिक सीट बागपत छोड़कर बीएसपी-एसपी और आरएलडी गठबंधन की ओर से मुजफ्फरनगर सीट को चुना है। इस सीट पर इन दोनों दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है। 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजे में संजीव बालियान, भाजपा को कुल वोट 6,53,391 करीब 59 फीसदी वोटे मिले थे, जबकि बीएसपी के कादिर राणा को कुल 2,52,241 वोट जोकि 22.8 फीसदी मिले थे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से