Home देश राज्य कुफरी में डॉप्लर राडार स्थापित, मौसम के मिजाज को चंद घंटे पहले भांप लेंगे विशेषज्ञ

कुफरी में डॉप्लर राडार स्थापित, मौसम के मिजाज को चंद घंटे पहले भांप लेंगे विशेषज्ञ

आउटलुक टीम - NOV 21 , 2020
कुफरी में डॉप्लर राडार स्थापित, मौसम के मिजाज को चंद घंटे पहले भांप लेंगे विशेषज्ञ
कुफरी में डॉप्लर राडार स्थापित, मौसम के मिजाज को चंद घंटे पहले भांप लेंगे विशेषज्ञ
FILE PHOTO
आउटलुक टीम

हिमाचल प्रदेश में शिमला जिले के पर्यटक स्थल कुफरी में डॉप्लर राडार स्थापित किया गया है। इसके जरिए मौसम विज्ञान केंद्र शिमला को मौसम के पूर्वानुमान के लिए दूसरे राज्यों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा और चंद घंटे पहले मौसम की सटीक जानकारी मिल सकेगी।

जानकारी के अनुसार डॉप्लर राडार की रेंज चारों तरफ 100 किलोमीटर तक है। शिमला और आसपास के क्षेत्रों में अब बादल फटने और भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग चंद घंटे पहले पूर्वानुमान जारी कर सकेगा। इससे मौसम संबंधी आपदा से होने वाले जान-माल के नुकसान को काफी कम किया जा सकेगा।

विशेषज्ञों की मानें तो डॉप्लर राडार मौसम की सटीक जानकारी देने के लिए जाना जाता है। इससे एक-दो घंटे पहले जानकारी मिल जाएगी कि कहां भारी बारिश होने वाली है या बादल फटने वाला है। इससे प्रशासन को सही समय पर सूचना मिल सकेगी और लोगों की जान बचाई जा सकेगी।  

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि कुफरी में डॉप्लर राडार ने काम करना शुरू कर दिया है। इससे मौसम के पूर्वानुमान को लेकर सटीक जानकारी मिलेगी।

उन्होंने कहा कि राज्य में कुल तीन राडार लगने हैं जो यहां के लिए मील का पत्थर स्थापित होंगे। इसके स्थापित होने से हिमाचल को पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से लेकर बारिश, बर्फबारी, आंधी तूफान जैसी सभी मौसम संबंधी सटीक जानकारियां बेहतर मिल सकेंगी।

ज्ञातव्य है कि राज्य की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार की तरफ से तीन डॉप्लर राडार मंजूर किए गए हैं। इनमें शिमला के कुफरी के अतिरिक्त कुल्लू और डलहौजी में भी डॉप्लर राडार स्थापित किए जा रहे हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से