Home देश राज्य दिल्ली में खुली शराब की 66 निजी दुकानें, देना होगा 70 प्रतिशत विशेष कोरोना शुल्क

दिल्ली में खुली शराब की 66 निजी दुकानें, देना होगा 70 प्रतिशत विशेष कोरोना शुल्क

आउटलुक टीम - MAY 23 , 2020
दिल्ली में खुली शराब की 66 निजी दुकानें, देना होगा 70 प्रतिशत विशेष कोरोना शुल्क
दिल्ली में खुली शराब की 66 निजी दुकानें, देना होगा 70 प्रतिशत विशेष कोरोना शुल्क
PTI
आउटलुक टीम

दिल्ली सरकार ने अब शराब की निजी दुकानों को भी खोले जाने की इजाजत दे दी है। हालांकि ये इजाजत सिर्फ 66 दुकानों को ही मिली है। ये दुकानें ऑड-ईवन आधार पर ही खुलेंगी। उन्हें शराब की दैनिक बिक्री पर 70 प्रतिशत विशेष कोरोना शुल्क का भुगतान करने का भी निर्देश दिया गया है। साथ ही सरकार ने साफ किया है कि कंटेनमेंट जोन में मौजूद ऐसी दुकानों को फिलहाल इजाजत नहीं दी जाएगी।

शराब की निजी दुकानें दुकानें सुबह 9 बजे से शाम 6.30 बजे तक ही खुलेंगी। हालांकि शॉपिंग मॉल में मौजूद शराब की दुकानों को ये इजाजत नहीं मिली है। सरकार ने दुकान खोलने की इजाजत के साथ कुछ नियम भी तय किए हैं और नियमों का पालन न होने पर कार्रवाई भी की जा सकती है। सरकार ने कहा कि दुकानों में किसी तरह से भी भीड़ नहीं होनी चाहिए और लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना आवश्यक होगा। साथ ही लोगों को चेहरे पर मास्क बांधना भी जरूरी होगा।

दिल्ली में शॉपिंग मॉल को खोलने की मंजूरी नहीं

दिल्ली में 863 शराब की दुकानें हैं। इनमें से 475 दुकानें दिल्ली सरकार की 4 अलग-अलग संस्था- दिल्ली स्टेट इंडस्ट्रियल एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट कॉर्पोरेशन, दिल्ली टूरिज्म एंड ट्रांसपोर्ट डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन, दिल्ली स्टेट सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन और दिल्ली कंज्यूमर कोऑपरेटिव होलसेल स्टोर- के अधीन हैं। वहीं, राजधानी में 389 दुकानें निजी शराब मालिकों की हैं। इनमें से भी 150 दुकानें अलग-अलग शॉपिंग मॉल में मौजूद हैं। दिल्ली में 31 मई तक लॉकडाउन के चौथे चरण में भी शॉपिंग मॉल को खोलने की इजाजत नहीं है।

पहले दी थी सरकारी दुकानों को इजाजत

बता दें कि देश में 24 मार्च से लॉकडाउन चल रहा है और तभी से सरकारी और निजी सभी तरह की शराब कि दुकानें पूरी तरह से बंद थीं। लॉकडाउन के तीसरे चरण में सरकार ने केवल सरकारी दुकानों को कुछ नियमों के साथ दुकाने खोलने की इजाजत दी थी। दिल्ली में अभी तक कोरोना संक्रमण के 12,319 मामले आए हैं, जिनमें से 208 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि वहीं 5,897 लोग अभी तक ठीक भी हो चुके हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से