Home » देश » राज्य » मेरठ: विवाद के बाद भाजपा पार्षद ने की यूपी पुलिस दरोगा की पिटाई, गिरफ्तार

मेरठ: विवाद के बाद भाजपा पार्षद ने की यूपी पुलिस दरोगा की पिटाई, गिरफ्तार

OCT 20 , 2018

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक भाजपा पार्षद द्वारा यूपी पुलिस के एक दरोगा की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पिटाई का यह वीडियो मेरठ के कंकरखेड़ा इलाके का है, जहां एक बीजेपी पार्षद द्वारा स्थानीय होटल में हुए विवाद के बाद यूपी पुलिस के दरोगा की पिटाई की गई है। इस घटना से पहले दरोगा एक महिला वकील के साथ इस होटल में खाना खाने पहुंचे थे और इसी दौरान होटेल के मालिकों से उनका कुछ विवाद हुआ था। एसपी सिटी मेरठ रणविजय सिंह ने 'आउटलुक' को बताया कि पुलिस ने आरोपी पार्षद को गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ कर रही है। साथ ही उसे आज कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा।

शुक्रवार देर रात मेरठ के कंकरखेड़ा इलाके में स्थित एक होटल में यूपी पुलिस के दरोगा एक महिला वकील के साथ खाना खाने पहुंचे थे। इस दौरान दरोगा का होटल के मालिक से किसी बात पर विवाद शुरू हो गया। इस बीच होटल मालिक ने स्थानीय बीजेपी पार्षद मनीष पंवार को भी विवाद की जानकारी दी और उन्हें मौके पर बुला लिया। इसके बाद मौके पर पहुंचे पार्षद ने पहले दरोगा से बहस शुरू की और फिर एक के बाद एक दरोगा को कई थप्पड़ जड़ दिए।

मेरठ नगर निगम के पार्षद हैं मनीष पंवार

विवाद के बीच जब दरोगा के साथ आई महिला वकील ने बीच बचाव करने का प्रयास किया तो होटेल मालिक और पार्षद ने उससे भी मारपीट की। घटना के बाद स्थानीय पुलिस स्टेशन में महिला वकील ने एसपी सिटी मेरठ की मौजूदगी में आईपीसी की धाराओं में केस दर्ज कराया गया। पुलिस ने आरोपी पार्षद को अरेस्‍ट कर लिया है और पूछताछ कर रही है। जानकारी के मुताबिक जिन बीजेपी पार्षद पर मारपीट का आरोप है, वह मेरठ के वॉर्ड नंबर 40 से बीजेपी के पार्षद हैं।

आरोप है कि दरोगा होटल में बैठकर पी रहे थे शराब

बीजेपी नेता का आरोप है कि महिला और दरोगा होटेल में बैठकर शराब पी रहे थे और इसे लेकर ही विवाद की स्थिति बनी। वहीं शिकायत करने वाली महिला वकील का कहना है कि वह दरोगा से किसी मुकदमे के सिलसिले में बात करने के लिए होटेल में गई थी और खाने का वक्त होने के वजह से भोजन का ऑर्डर दिया था। महिला वकील का कहना है कि बीजेपी नेता द्वारा शराब पीने के आरोप गलत हैं और होटेल में ऐसी कोई भी चीज नहीं की गई थी। बताया जा रहा है कि घटना के बाद दरोगा को लाइन हाजिर करने का आदेश दिया गया है।

तबीयत खराब होने की बात कहकर निकले थे दरोगा

पुलिस के मुताबिक दरोगा सुखपाल को शुक्रवार रात दशहरा ड्यूटी के लिए तैनात किया गया था। इसी बीच उसने अफसरों को अपनी तबियत खराब होने की बात कहकर घर जाने की बात कही और फिर महिला वकील के साथ होटेल चला गया। एसपी सिटी रणविजय सिंह का कहना है कि पूरी घटना के संबंध में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।



अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.