Home » देश » राज्य » कांग्रेस के भारत बंद को समर्थन देने से बीजेडी का इनकार, करीब 19 दलों के समर्थन का दावा

कांग्रेस के भारत बंद को समर्थन देने से बीजेडी का इनकार, करीब 19 दलों के समर्थन का दावा

SEP 09 , 2018

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुए कीमतों में के विरोध में 10 सितंबर को कांग्रेस द्वारा बुलाए गए भारत बंद को ओडीशा में सत्ताधारी दल बीजू जनता दल यानि बीजेडी ने समर्थन करने से मना कर दिया है। हालांकि बीजेडी ने कहा कि वह न तो इस भारत बंद के विरोध मे है और न इसके समर्थन में है।

बीजू जनता दल के प्रवक्ता सस्मित पात्रा ने कहा कि उनकी पार्टी पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुए कीमतों के खिलाफ लड़ रही है और यह पहली बार नहीं है जब देश इस तरह की वृद्धि देख रहा है। इसीलिए हम न तो इस भारत का समर्थन कर रहे हैं, न इसके विरोध में हैं। उन्होंने आगे कहा कि पिछले साढ़े चाल से कांग्रेस कहां सोई थी? हालांकि उन्होंने कहा सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पूरे राज्य में स्कूल बंद रहेंगे।

19 दलों का भारत बंद को समर्थन
पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार बढ़ोतरी पर नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस की ओर से ‘भारत बंद’ को विपक्ष की कुल 19 छोटी-बड़ी पार्टियों का समर्थन मिला है। पार्टी का कहना है कि ‘भारत बंद’ के लिए समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, जनता दल एस, राष्ट्रीय लोक दल, झारखंड मुक्ति मोर्चा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल और महाराष्ट्र से मनसे सहित कई अन्य दल समर्थन कर रहे हैं।

पार्टी के एक नेता ने कहा, ‘कुल 19 पार्टियां भारत बंद का समर्थन कर रही हैं। पार्टी का दावा है कि सोमवार को निश्चित तौर पर भारत बंद कामयाब होगा। खबर है कि अहमद पटेल ने पार्टियों को साथ लाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

तृणमूल कांग्रेस का शर्तों के साथ समर्थन
तृणमूल कांग्रेस ने बंद का समर्थन किया है, लेकिन वह इसमें भाग नहीं लेगी। ऐसा माना जा रहा कि  पश्चिम बंगाल में अपनी सरकार होने की वजह से तृणमूल कांग्रेस वहां जनजीवन ठप्प करने के पक्ष में नहीं है।
कांग्रेस का कहना है कि उसकी ओर से बुलाया गया ‘भारत बंद’ सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक रहेगा, ताकि आम जनता को कोई परेशानी का सामना न करना पड़े।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.