Home देश राज्य बेंगलुरु में फेसबुक पोस्ट पर भड़की हिंसा में तीन लोगों की मौत, दर्जनों घायल,100 से अधिक गिरफ्तार

बेंगलुरु में फेसबुक पोस्ट पर भड़की हिंसा में तीन लोगों की मौत, दर्जनों घायल,100 से अधिक गिरफ्तार

आउटलुक टीम - AUG 12 , 2020
बेंगलुरु में फेसबुक पोस्ट पर भड़की हिंसा में तीन लोगों की मौत, दर्जनों घायल,100 से अधिक गिरफ्तार
भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर बेंगलुरू में भड़की हिंसा, दो की मौत, कई घायल
ट्विटर
आउटलुक टीम

बेंगलुरू में एक फेसबुक पोस्ट को लेकर हिंसा भड़क उठी। इस हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई है जबकि कई लोगों के घायल होने की खबर है। दरअसल, पुलिस ने बताया कि बेंगलुरु के पुलाकेशी नगर में मंगलवार रात भीड़ ने थाने और और कांग्रेस विधायक के आवास में तोड़फोड़ की। यह घटना विधायक के एक कथित संबंधी द्वारा सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक मुद्दे से जुड़े एक पोस्ट साझा किए जाने के बाद हुई।

एएनआई समाचार एजेंसी ने पुलिस के हवाले से कहा कि इस हिंसा में तीन व्यक्तियों की मौत हो गई और लगभग 60 पुलिसकर्मियों को चोटें लगीं हैं। पुलिस ने कहा कि पूरे बेंगलुरु शहर में धारा 144 लगा दी गई है। पुलिस ने कहा कि उन्होंने हिंसा के सिलसिले में लगभग 100 लोगों को गिरफ्तार किया है।

इस बीच, पुलिस ने उस व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जिसने फेसबुक पर अपमानजनक पोस्ट किया था। बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने कहा, "आरोपी को सोशल मीडिया पर अपमानजनक पोस्ट शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।" मुख्यमंत्री ने बी.एस. येदियुरप्पा ने बुधवार को कहा कि हिंसा के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के आवास के निकट जमा हुए और तोड़फोड़ की तथा वहां खड़े वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद भीड़ ने यह सोचकर थाने को निशाना बनाया कि पुलिस ने आरोपी को वहां हिरासत में रखा है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हिंसा को रोकने की कोशिश कर रहीं पुलिस टीमों के वाहनों को भी भीड़ ने क्षतिग्रस्त कर दिया।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि खुद को विधायक का रिश्तेदार बताने वाले आरोपी ने कथित रूप से सोशल मीडिया पर एक पोस्ट साझा की, जिससे एक समुदाय के लोग भड़क उठे।

विधायक ने समुदाय के लोगों से हिंसा नहीं करने की अपील की। उन्होंने वीडियो संदेश में कहा, ‘मैं मुस्लिम भाईयों से अपील करता हूं कि कुछ उपद्रवियों की गलतियों के चलते हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिए। लड़ने-झगड़ने की कोई जरूरत नहीं है। हम सभी भाई हैं। हम कानून के अनुसार दोषियों को सजा दिलाएंगे। हम भी आपके साथ हैं। मैं अपने मुस्लिम दोस्तों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।’

बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने कहा कि आरोपी को सोशल मीडिया पर अपमानजनक पोस्ट शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

इस बारे में कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्‍मई का कहना है कि मामले की जांच की जानी चाहिए लेकिन बर्बरता का हल नहीं है। अतिरिक्त बल तैनात किया गया है। उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मैंने अधिकारियों से बात की है। किसी को भी डरने की जरूरत नहीं है। पुलिस शांति बहाल करने की कोशिश कर रही है।

कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री बी जेड ज़मीर अहमद खान ने हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। खान ने ट्वीट किया, "मुझे उम्मीद है कि पुलिस उन सभी के खिलाफ कार्रवाई करेगी जो इसके लिए जिम्मेदार हैं। मैं सभी से शांत रहने और क्षेत्र में शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।"

घटना के बारे में जानने के बाद बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत घटनास्थल पर पहुंचे, लेकिन उनका हस्तक्षेप भी दंगाइयों को नहीं रोका नहीं जा सका।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से