Advertisement
Home देश मुंबई: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी के सामने पेश हुईं संजय राउत की पत्नी, पति से हो सकता है सामना

मुंबई: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी के सामने पेश हुईं संजय राउत की पत्नी, पति से हो सकता है सामना

आउटलुक टीम - AUG 06 , 2022
मुंबई: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी के सामने पेश हुईं संजय राउत की पत्नी, पति से हो सकता है सामना
मुंबई: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी के सामने पेश हुईं संजय राउत की पत्नी, पति से हो सकता है सामना
ANI
आउटलुक टीम

गिरफ्तार शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत शनिवार को  एक 'चॉल' के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश हुईं।
        
केंद्रीय एजेंसी ने इस सप्ताह की शुरुआत में वर्षा राउत को समन जारी किया था। इसके मुताबिक वह सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर दक्षिण मुंबई के बलार्ड एस्टेट स्थित ईडी कार्यालय पहुंचीं। वहां, उनका अपने पति से सामना होने की उम्मीद है, जो वर्तमान में ईडी की हिरासत में हैं।

ईडी कार्यालय के बाहर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। केंद्रीय एजेंसी मुंबई के गोरेगांव इलाके में पात्रा "चॉल" के पुनर्विकास से संबंधित 1,034 करोड़ रुपये के कथित भूमि घोटाले से जुड़ी जांच कर रही है।
        
ईडी ने राज्यसभा सदस्य संजय राउत को इस मामले में 1 अगस्त को गिरफ्तार किया था और गुरुवार को एक स्थानीय अदालत ने उन्हें 8 अगस्त तक की और हिरासत में भेज दिया था।

ईडी ने पहले अदालत को बताया था कि संजय राउत और उनके परिवार को आवास पुनर्विकास परियोजना में कथित अनियमितताओं से उत्पन्न एक करोड़ रुपये से अधिक की “अपराध की आय” प्राप्त हुई थी।
        
ईडी ने अप्रैल में अपनी जांच के तहत वर्षा राउत और संजय राउत के दो सहयोगियों की 11.15 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति को अस्थायी रूप से कुर्क किया था। कुर्क की गई संपत्तियां पालघर, सफल (पालघर में एक शहर) और पड़घा (ठाणे जिले में) में प्रवीण एम राउत, संजय राउत के सहयोगी और गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व निदेशक के पास जमीन के रूप में हैं।
        
संपत्तियों में वर्षा राउत के पास मुंबई उपनगर दादर में एक फ्लैट और अलीबाग में किहिम समुद्र तट पर आठ भूखंड शामिल हैं, जो संयुक्त रूप से वर्षा राउत और स्वप्ना पाटकर, संजय राउत के एक "करीबी सहयोगी" सुजीत पाटकर की पत्नी के पास हैं।  
        
ईडी ने पहले कहा था कि गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड चॉल के पुनर्विकास में शामिल था, जिसमें महाराष्ट्र हाउसिंग एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (म्हाडा) से संबंधित 47 एकड़ में 672 किरायेदार रहते थे। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement