Home » देश » मुद्दे » सुप्रीम कोर्ट के चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस से हड़कंप, जानिए सियासी हलचल

सुप्रीम कोर्ट के चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस से हड़कंप, जानिए सियासी हलचल

JAN 12 , 2018

सुप्रीम कोर्ट के 4 सिटिंग जजों द्वारा न्यायपालिका की खामियों की शिकायत लेकर मीडिया के सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के फौरन बाद इस पर कानूनविदों और नेताओं की ओर से प्रतिक्रिया आनी भी शुरू हो गई है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और वकील सुब्रमण्यम स्वामी ने इसे बेहद गंभीर मामला बताया है। उन्होंने कहा, “हम उनकी आलोचना नहीं कर सकते, वे महान ईमानदार लोग हैं उन्होंने अपने बहुत से कानूनी कॅरिअर का बलिदान किया है, वे चाहते तो वरिष्ठ सलाहकार के रूप में पैसे कमा सकते थे। हमें उनका सम्मान करना चाहिए।”

स्वामी ने पीएम नरेंद्र मोदी से इस मामले में दखल देने की मांग की है।

इस मसले पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि यह बेहद दुखी करने वाला और दर्दनाक है कि शीर्ष अदालत की जमीन में इतना गंभीर तनाव कि जजों को मीडिया के सामने आकर संबोधित करना पड़ा।

 बता दें कि अपने संबोधन में चीफ जस्टिस के बाद दूसरे सबसे सीनियर जज जस्टिस चेलमेश्वर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कभी-कभी होता है कि देश के सुप्रीम कोर्ट की व्यवस्था भी बदलती है। सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है, अगर ऐसा चलता रहा तो लोकतांत्रिक परिस्थिति ठीक नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि हमने इस मुद्दे पर चीफ जस्टिस से बात की, लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.