Advertisement
Home देश भारत उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी, जगदीप धनखड़ और मार्गरेट अल्वा के बीच टक्कर, जानिए अहम बातें

उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी, जगदीप धनखड़ और मार्गरेट अल्वा के बीच टक्कर, जानिए अहम बातें

आउटलुक टीम - AUG 06 , 2022
उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी, जगदीप धनखड़ और मार्गरेट अल्वा के बीच टक्कर, जानिए अहम बातें
उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग आज, जगदीप धनखड़ और मार्गरेट अल्वा के बीच टक्कर, जानिए अहम बातें
आउटलुक टीम

राष्ट्रपति चुनाव का सियासी शोर थमने के बाद आज यानी शनिवार को देश के उपराष्ट्रपति पद के लिए मतदान शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना वोट डाल दिया है। साथ ही, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और अश्विनी वैष्णव, भाजपा के मुख्य सचेतक राकेश सिंह, वाईएसआरसीपी के रघु राम कृष्ण राजू और टीआरएस सांसदों ने भी मतदान किया।

- संसद में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी और कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए संसद में वोट डाला।

 

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी ने उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए संसद में वोट डाला।
 
- अभी तक पीएम मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी,धर्मेंद्र प्रधान सहित कई केंद्रीय मंत्रियों सांसदो ने मतदान किया।

बता दें कि मौजूदा उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है और नए उपराष्ट्रपति के पद के लिए एनडीए की तरफ से पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनकड़ और विपक्ष की तरफ से मार्गरेट अल्वा मैदान में हैं। संसद भवन में सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। इसके तुरंत बाद मतगणना शुरू की जाएगी। देर शाम तक नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे।  

भाजपा अपने दम पर धनखड़ को चुनाव जिताने की स्थिति में दिखाई दे रही है। पार्टी के पास लोकसभा में 303 तो राज्यसभा में 91 सदस्य हैं। तृणमूल कांग्रेस के मतदान से दूर रहने की घोषणा के बीच ममता बनर्जी ने शुक्रवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात भी की है।

इस समय दोनों सदनों में 788 सदस्य हैं। बहुमत का आंकड़ा 395 है। भाजपा के दोनों सदनों में अपने 394 सांसद हैं। यानी उसके अपने ही वोट 50 फीसदी हैं। राजग को मिलाकर यह आंकड़ा 445 सांसदों का हो जाता है। हाल के चार मनोनीत सांसदों को मिलाकर राजग के पास 449 सांसदों का समर्थन हो जाता है। इसके अलावा उसे अन्य दलों से भी समर्थन हासिल है। इनमें वाईएसआरसीपी (31), बीजद (21), बसपा (11), तेलुगुदेशम (4) शामिल हैं। इनके समर्थन के साथ धनखड़ के पक्ष में आंकड़ा 512 वोट का हो जाता है। राजग नेताओं को उम्मीद है कि इसके अलावा कई और दल और सांसद भी उसका समर्थन करेंगे और वह पिछली बार से ज्यादा वोट हासिल करेंगे।

बता दें कि पिछली बार 2017 के उप राष्ट्रपति चुनाव में राजग के वैंकेया नायडू ने विपक्ष समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी को हराया था। तब नायडू को 516 (67.89 फीसदी) व गांधी को 244 (32.11) फीसदी वोट मिले थे। इस बार विपक्ष और ज्यादा बिखरा हुआ है। विपक्षी दलों में उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर मतभेद भी सामने आए हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने अल्वा के नाम की घोषणा से पहले सहमति नहीं बनाने की कोशिशों का हवाला देते हुए मतदान प्रक्रिया से दूर रहने की घोषणा की है।

सोमवार को राज्यसभा करेगी सभापति नायडू की विदाई

राज्यसभा सोमवार को अपने सभापति एम. वेंकैया नायडू को विदाई देगी, जिनका कार्यकाल 10 अगस्त को पूरा हो रहा है। राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने शुक्रवार को सदन में इसकी घोषणा की।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement