Home देश भारत सिद्धू के सियासी मंसूबों पर फिरा पानी, अमरिंदर की इस जीत के बाद समर्थकों ने भी खींचे हाथ

सिद्धू के सियासी मंसूबों पर फिरा पानी, अमरिंदर की इस जीत के बाद समर्थकों ने भी खींचे हाथ

आउटलुक टीम - FEB 23 , 2021
सिद्धू के सियासी मंसूबों पर फिरा पानी, अमरिंदर की इस जीत के बाद समर्थकों ने भी खींचे हाथ

File Photo
आउटलुक टीम

नवजोत सिद्ध के फिरते दिनों पर पानी फिर सकता है। उन्हें पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह की केबिनेट में शामिल करने को बैिकंग करने वाले पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत के भी सुर तब से बदले हैं जब से स्थानीय निकाय चुनाव में कांग्रेस ने भारी जीत दर्ज जता दिया है कि पंजाब में कैप्टन ही हैं। लम्बे समय से पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर जल्द ही विराम लग सकता है। बजट सत्र के बाद कांग्रेस हाईकमान सिद्धू पर फैसला ले सकती है। कभी सिद्धू को मंत्रीमंडल में शामिल करने की बात करने वाले पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि जल्द तय हो जाएगा कि सिद्धू राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी के लिए कार्य करेंगे या राज्य स्तर पर कोई जिम्मेदारी निभाएंगे। उन्होंने कहा कि खुद सिद्धू भी स्पष्ट कर चुके हैं कि राहुल गांधी जो जिम्मेदारी सौंपेंगे, उन्हें स्वीकार होगी। 

पंजाब मंत्रिमंडल में दोबारा वापसी के सवाल पर रावत ने कहा कि कैप्टन अमरेंद्र सिंह भी उन्हें शामिल करना चाहते हैं लेकिन किसी कारणवश अभी तक संभव नहीं हो पाया है। कुछ समय पहले कैप्टन अमरेंद्र और सिद्धू के बीच एक अच्छा संवाद शुरू हुआ था। कैप्टन अमरेंद्र ने मुलाकात के लिए बुलाया था और सिद्धू गए भी थे। इसके बाद विधानसभा सत्र में भी कृषि कानून के मामले पर सिद्धू ने कैप्टन का समर्थन किया था। साथ ही दिल्ली में भी कांग्रेस विरोध मार्च में जोर-शोर से आवाज बुलंद की थी। इसके बाद संभावना बनी थी कि जल्द सिद्धू मंत्रिमंडल में वापसी कर सकते हैं लेकिन, दोनों नेताओं के बीच किसी बैठक का सबब नहीं बन पाया। अब माना जा रहा है कि बजट सत्र के बाद स्थितियां स्पष्ट हो जाएंगी। 

रावत ने स्पष्ट किया कि सिद्धू पर जो भी निर्णय होगा, वह उनकी क्षमता और भविष्य की संभावनाओं को ध्यान में रखकर किया जाएगा। साथ ही निर्णय में कैप्टन अमरेंद्र का आशीर्वाद और उनका हाथ दिखाई देना लाजिमी है, क्योंकि यह पंजाब और कांग्रेस दोनों के हित में रहेगा। कैप्टन अमरेंद्र कांग्रेस के मजबूत स्तंभ और पार्टी में अत्यधिक महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं। रावत ने कहा कि सिद्धू पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहते हैं, यह महज कोरी अफवाह है। सिद्धू ने किसी भी बैठक में ऐसी कोई बात नहीं की है। पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के स्तर पर सुनील जाखड़ अच्छा कार्य कर रहे हैं। जाखड़ बहुत ही समझदार और जांबाज नेता हैं। उन्हें पार्टी ने जो जिम्मेदारी सौंपी है, उसे बेहतरीन तरीके से निभाया है। निकाय चुनाव में मिली अपार सफलता में कैप्टन के साथ जाखड़ का भी अहम योगदान है। 

 
 
 
 
अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से