Home देश भारत राम मंदिर 'भूमि-पूजन' में बाबरी विध्वंस मामले के सभी 32 आरोपियों को आमंत्रित और सम्मानित किया जाना चाहिए: हिंदू धर्म सेना

राम मंदिर 'भूमि-पूजन' में बाबरी विध्वंस मामले के सभी 32 आरोपियों को आमंत्रित और सम्मानित किया जाना चाहिए: हिंदू धर्म सेना

आउटलुक टीम - JUL 23 , 2020
राम मंदिर 'भूमि-पूजन' में बाबरी विध्वंस मामले के सभी 32 आरोपियों को आमंत्रित और सम्मानित किया जाना चाहिए: हिंदू धर्म सेना

File Photo
आउटलुक टीम

हिंदुत्व संगठन के एक नेता ने कहा है कि बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले के सभी 32 आरोपियों को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि-पूजन' समारोह में आमंत्रित किया जाना चाहिए और सम्मानित किया जाना चाहिए। हिंदू धर्म सेना के अध्यक्ष संतोष दुबे बाबरी मामले के मुख्य आरोपियों में से एक हैं। 

साथ ही संतोष दुबे ने जोर देते हुए कहा कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट को सभी चार शंकराचार्यों को 5 अगस्त को आयोजित समारोह में आमंत्रित करना चाहिए। इस बात की भी संभावना है कि पीएम नरेंद्र मोदी भी इस समारोह में हिस्सा लेंगे। 

संतोष दुबे ने कहा, "राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र के अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सभी 32 आरोपियों के साथ राम मंदिर में अपनी जान देने वाले कारसेवकों के परिवारों को भी 'भूमि-पूजन' समारोह में आमंत्रित किया जाना चाहिए और वहां उनका सम्मान होना चाहिए।"

"राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र के पदाधिकारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सभी 32 आरोपियों के साथ, राम मंदिर में अपनी जान देने वाले कारसेवकों के परिवारों को भी 'भूमि-पूजन' समारोह में आमंत्रित किया जाना चाहिए। और वहां सम्मानित होना चाहिए।"

गौरतलब है कि लखनऊ की विशेष सीबीआई अदालत सीआरपीसी की धारा 313 के तहत बाबरी विध्वंस के 32 आरोपियों के बयान दर्ज कर रही है। शुक्रवार 24 जुलाई को पूर्व उपप्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का बयान दर्ज किया जाएगा। साथ ही इस बात की भी खबरें हैं कि आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को भूमि पूजन में आमंत्रित नहीं किया गया है। हालांकि, राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से दावा है कि सभी को आमंत्रित किया गया है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से