Home देश भारत गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ की दहशत, तटीय इलाकों में हाई अलर्ट, जानें अहम बातें

गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ की दहशत, तटीय इलाकों में हाई अलर्ट, जानें अहम बातें

आउटलुक टीम - JUN 12 , 2019
गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ की दहशत, तटीय इलाकों में हाई अलर्ट, जानें अहम बातें
गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ की दहशत, तटीय इलाकों में हाई अलर्ट, जानें अहम बातें
आउटलुक टीम

चक्रवाती तूफान 'वायु' तेजी से गुजरात के तटीय इलाकों की ओर बढ़ रहा है। इस तूफान से निपटने के लिए गुजरात प्रशासन हाई अलर्ट पर है। ‘वायु’ के कल वेरावल के पास तट पर पहुंचने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में वायु के दस्तक देने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर से उठने वाला चक्रवाती तूफान 'वायु' 75 किलोमीटर से लेकर अधिकतम 135 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के साथ गुजरात के कई इलाकों में दस्तक देगा। इस चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए एनडीआरएफ की टीम इससे प्रभावित होने वाले लोगों की सहायता के लिए गुजरात पहुंच चुकी हैं। इसके साथ ही स्कूलों को बंद कर दिया गया है और संबंधित कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं।

मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात ‘वायु’ वेरावल तट के करीब 650 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है और अगले 12 घंटे में इसके तीव्र चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। यह तूफान 13 जून तक राज्य के तट पर पहुंच सकता है। रूपाणी ने कहा कि कच्छ से लेकर दक्षिण गुजरात में फैले समूची तटरेखा को हाई अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि चक्रवात फोनी के दौरान ओडिशा में अपनायी गयी आपदा प्रबंधन तकनीक को सीखने और उन्हें लागू करने के लिये गुजरात के संबंधित अधिकारी ओडिशा सरकार के साथ संपर्क में हैं।

मुंबई कोस्ट के नजदीक से गुजर रहा है वायु

चक्रवात वायु अभी मुंबई कोस्ट के नजदीक से गुजर रहा है। अभी इसका बड़ा प्रभाव तो नहीं दिख रहा है लेकिन इसके कारण भारी बारिश हो सकती है। मुंबई मौसम विभाग की मानें ये अभी मुंबई कोस्ट से 300 किलोमीटर दूर है। लेकिन जब ये और भी करीब होगा तब मुंबई, कोंकण, ठाणे और पालघर में भारी बारिश हो सकती है। अभी इस तूफान की स्पीड 135 किलोमीटर प्रति घंटा है, जल्द ही ये 150 के पार भी हो सकती है। ऐसे में सारी एजेंसियां अलर्ट पर हैं।

तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजेंगे- रुपाणी

सीएम रूपाणी ने बताया कि हमने सभी संबंधित कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं और उन्हें ड्यूटी पर आने का निर्देश दिया गया है। कल मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सभी मंत्री राहत और बचाव अभियान का जायजा लेने के लिये विभिन्न जिलों में जायेंगे।

उन्होंने कहा कि 13 और 14 जून हमारे लिये बहुत महत्वपूर्ण हैं। हमने सेना, एनडीआरएफ, तटरक्षक और अन्य एजेंसियों से राहत और बचाव कार्य के लिये सहायता मांगी है। मानवीय क्षति कम से कम हो इसके लिये हमलोग कल से तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजेंगे। गुजरात बंदरगाह और यातायात विभाग की प्रधान सचिव सुनैना तोमर ने बताया कि राज्य के सभी बंदरगाहों पर आपदा प्रबंधन योजना लागू की गयी है।

क्या है वायु?

कम दबाव वाले क्षेत्र ने गर्म समुद्री हवाओं के कारण सोमवार को डिप्रेशन का रूप ले लिया था जो मंगलवार को चक्रवात में बदल गया। इस चक्रवाती तूफान का नाम वायु है, जो कि भारत द्वारा ही दिया गया है। मौसम विभाग का कहना है कि गुरुवार तक 'वायु' तूफान अपने चरम पर होगा। आईएमडी मुंबई के डीडीजीएम केएस होसालिकर का कहना है कि मुंबई भी चक्रवाती तूफान वायु से प्रभावित होगा, लेकिन गंभीर रूप से नहीं। बुधवार को तूफान मुंबई के तट पर आ सकता है। तट के आसपास रहने वाले लोगों और मछुआरों के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से